Sunday, September 4, 2016

एसआई संदीप की टीम ने अगवा बच्चें को 24 घण्टे में खोज निकाला, मिल रही बधाइयां



फरीदाबाद -सितंबर 04,2016(abtaknews.com )  पूरन चन्द पवार डी.सी.पी एन.आई.टी ने प्रैस क्रान्फ्रेंस के दौरान डबुआ कालोनी से 7 साल के बच्चे की अपहरण की वारदात का खुलासा किया है।  पूरन चंद पवार ने बताया कि एस.आई संदीप (चोकी इन्चार्ज डबुआ कालोनी), ए.एस.आई धर्मेन्द्र ने सराहनीय कार्य करते हुए 1 आरोपी को गिरफतार कर अपहरण की वारदात को सुलझाया है।उन्होने बताया कि दिनांक 1/2.09.16 को समय करीब 2 ए.एम पर एक महिला निवासी डबुआ कालोनी ने चोकी में दरखास्त दी थी कि उसका बेटा अंशु  जिसकी उम्र 07 साल को राजकुमार उर्फ राजू पुत्र शकलदेव यादव गांव सुन्दरपुर, थाना कतरी सराय जिला नालंदा बिहार ने अपहरण कर लिया है व फिरौती के तौर पर 50,000/-रू0 की मांग कर रहा है। जिस पर थाना सारन में मुकदमा दर्ज कर तुरन्त जांच षुरू कर दी थी।

चोकी प्रभारी एस.आई संदीप ने बताया कि नेपाल की रहने वाली अनिता (सभी नाम परिवर्तित हैं) डबुआ कॉलोनी में रहती हैं। घर के पास ही उसकी एक सहेली आषा भी रहती है। आषा की दोस्ती आरोपी राजकुमार नाम के शख्स से है। जोकि दिनांक 01.09.16 को किसी बात को लेकर आया  और राजकुमार के बीच विवाद हो गया। इसके बाद आषा रात में रुकने के लिए अपनी सहेली अनिता के घर आ गई।रात करीब 2 बजे आरोपी राजकुमार ने फोन कर आषा को धमकी दी कि वह वापस अपने घर लौट जाए, वरना उसके 4 साल के बच्चे को उठा ले जाऊंगा। इसके बाद आषा अपनी सहेली अनिता और उसके घरवालों के साथ अपने घर पहुंची और अपने 4 साल के बच्चे को लेकर वापस लौट आई।

कुछ देर बाद जब अनिता अपने परिवार के अन्य सदस्यों के साथ आषा के बच्चे को लेकर घर पहुंची तो उसका 7 साल को बच्चा घर में नही मिला। थोडी देर बाद आरोपी राजकुमार का फोन आया और 50 हजार रूपये की मांगा की।
चोकी इंचार्ज एस.आई.संदीप व उसकी टीम ने बच्चे की तलाष षुरू कर दी। और आरोपी का फोन सर्विलेंस पर लगा दिया। प्रभारी ने बताया कि पहले आरोपी की लोकेषन कनाॅट प्लेस और बाद में आनंद विहार रेलवे स्टेषन पर मिली। संदीप व उसकी टीम ने आनंद बिहार स्टेषन पर ट्रेनो की तलाषी षुरू की। इस दौरान विक्रमषिला एक्सप्रेस रवाना हो गई।

एस.आई संदीप ने दोबारा आरोपी की लोकेषन ट्रेस करवाई तो वह गाजियाबाद में मिली, उसी वक्त रेलवे प्रषासन से पता किया गया कि विक्रमषिला टेªन की लोकषन कहा पर है तो पता लगा कि टेªन व फोन दोनो की लोकेषन मैच हो रही है जिस पर प्रभारी संदीप व उसकी टीम को पूरा भरोसा हो गया कि अपहरण कर्ता बच्चे को लेकर इसी टेªन में जा रहा है।

चोकी प्रभारी ने घटना की पूरी जानकारी ए.सी.पी क्राईम राजेष फौगाट व ए.सी.पी मुजेसर राजेष चेची को दी अधिकारियों ने आर.पी.एफ और जी.आर.पी की मदद मांगी और एस.आई संदीप व उसकी टीम को तुरन्त इलाहाबाद रवाना होने के लिए कहा जिस पर संदीप व उसकी टीम इलाहाबाद की ट्रेन पकडकर इलाहाबाद रवाना हो गये। आरपीएफ ने आरोपी राजकुमार को इलाहाबाद रेलवे स्टेषन पर गिरफतार कर लिया। थोडे समय बाद संदीप व उसकी टीम भी वहा पर पहुॅच गई व आरोपी को गिरफतार कर बच्चे को अपने कब्जे में लेकर फरीदाबाद पहुॅच गये।

चोकी इन्चार्ज एस.आई. संदीप कुमार ने बताया कि इस मामले को जल्द सुलझाने में ए.सी.पी राजेष चेची व ए.सी.पी राजेष फौगाट का सहयोग रहा है।

आज बच्चे को उसके परिजनों को सौंपा गया है व आरोपी राजकुमार को अदालत में पेष करके दो दिन के पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ जारी है।


loading...
SHARE THIS

0 comments: