Wednesday, September 14, 2016

ब्रिक्‍स पर्यावरण मंत्रियों की गोवा में 16 सितंबर को होगी बैठक


ब्रिक्स देशों के पर्यावरण मंत्री आपसी सहयोग को मजबूत बनाने के लिए 16 सितंबर 2016 को गोवा में आयोजित होने वाली बैठक में शामिल होंगे। मेजबान देश के मंत्री होने के मद्देनजर पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री अनिल माधव दवे बैठक में भाग लेने के लिए कल गोवा जा रहे हैं। बैठक में समझौता ज्ञापन और पर्यावरण पर संयुक्त कार्य समूह पर चर्चा होने की उम्मीद है। ब्रिक्स मंत्रियों के बीच वायु और जल प्रदूषण, तरल और ठोस कचरा प्रबंधन, जलवायु परिवर्तन और जैव विविधता के संरक्षण जैसे आपसी हितों के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सहयोग पर चर्चा होने और इस संदर्भ में प्राथमिकता से कार्यवाही किए जाने की उम्मीद हैं। इस बैठक से पूर्व सरकारी स्तर पर विचार-विमर्श किया जाएगा।
पिछले वर्ष हुई बैठक में विकास के लिए वित्‍तपोषण पर अदीस अबाबा कार्रवाई एजेंडा, सतत विकास लक्ष्य और पेरिस समझौते जैसे वैश्‍विक पर्यावरण समझौतों को अपनाने के बाद वर्तमान बैठक काफी अहमियत रखती है। यह बैठक विभिन्‍न केन्‍द्रीय मंत्रालयों द्वारा संचालित की जा रही बैठकों की श्रृंखला में से एक है और इस वर्ष रूस से ब्रिक्‍स की अध्‍यक्षता भारत द्वारा ग्रहण किए जाने के बाद ब्रिक्‍स देशों के प्रमुखों के अक्‍टूबर, 2016 में गोवा में होने वाले शिखर सम्‍मेलन की दृष्‍टि से भी अहम हैं। ब्रिक्स पर्यावरण मंत्रियों की बैठक का आयोजन भारत सरकार के पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है।
ब्रिक्स देशों में शामिल ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका वैश्विक आबादी के 41.6%, कुल दुनिया के क्षेत्रफल के 29.31% और विश्‍व के कुल सकल घरेलू उत्पाद में लगभग 22% की हिस्‍सेदारी रखते हैं। ये देश जैव विविधता और प्राकृतिक पूंजी से समृद्ध है। ब्रिक्स देशों द्वारा दिए गये विकल्‍पों का एक वैश्विक महत्व है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: