Wednesday, September 14, 2016

बीसीए सैकेंड सैमेस्टर में 132 में से 127 फेल, एनएसयूआई ने किया प्रदर्शन


फरीदाबाद(abtaknews.com) बीसीए सैकेंड सैमेस्टर का रिजल्ट खराब आने पर एनएसयूआई ने छात्रों के भविष्य के लिए यूनिवर्सिटी से सभी छात्रों के पेपर्स पुन: चैक करने की मांग की है ताकि छात्रा के भविष्य के साथ खिलवाड़ न हो। बुधवार को एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष कृष्णअत्री के नेतृत्व में छात्र-छात्राओं ने सेक्टर-16 स्थित पं. जवाहर लाल नेहरू कॉलेज परिसर में प्रदर्शन किया और यूनिवर्सिटी के खिलाफ नारेबाजी की। जिलाध्यक्ष कृष्ण अत्री ने कहा कि 132 में से सिर्फ 127 छात्र-छात्राएं फेल हैं। इसमें कई छात्र-छात्राओं के तो कई विषयों में शून्य अंक हैं। उन्होंने कहा कि वह यूनिवर्सिटी से री-चैकिंग की अपील कर रहे हैं। 
कृष्ण अत्री ने कहा कि प्रत्येक सैमेस्टर में यूनिवर्सिटी इस तरह अधिकतर विद्यार्थियों को फेल कर उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का प्रयास करती है लेकिन हर बार एनएसयूआई छात्र हितों की लड़ाई लड़ता आया है। इस बार भी वह छात्रों के भविष्य के साथ यंू खिलवाड़ नहीं होने देंगे और पेपर्स को री-चैक करवाएंगे। उन्होंने कहा कि ऐसा पहले भी हुआ है कि पेपर्स चैकिंग में कहीं कोई गलती रह जाती है जिस कारण विद्यार्थियों को फेल कर दिया जाता है लेकिन री-चैकिंग में यूनिवर्सिटी ने अपनी उस गलती को सुधारा और फिर विद्यार्थी पास हुए। कृष्ण अत्री ने कहा कि बीसीए में इस बार 132 विद्यार्थियों में से सिर्फ 5 विद्यार्थी ही पास हुए हैं। उन्होंने कहा कि  उन्होंने कॉलेज प्रिंसिपल को यूनिवर्सिटी के वाईस चांसलर के नाम एक ज्ञापन सौंपा है जिसमें उत्तर पुस्तिका को पुन: जांच करने की मांग की गई है। इस मौके पर ज्योति, नीलम, नगमा, सरोज, कविता, चेतन दीक्षित, हरिओम, श्याम, भूपेन्द्र, अभिषेक, अंकित, अरविंद, सुभाष सहित अनेक छात्र मौजूद रहे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: