Saturday, August 13, 2016

सामाजिक संस्थाओं ने फिर दान दी सिविल अस्पताल को बेड सीट व बेड



फरीदाबाद-अगस्त 13,2016(abtaknews.com ) सिविल अस्पताल को दो सामाजिक संस्थाओं ने 16 बेड और एक सौ चदरे दान दी है। इसके अलावा दो डोपलर भी गायनी वार्ड के लिए दिए गए है। ताकि अस्पताल में सुविधाओं की कोई कमी न रहे है। अस्पताल के पीएमओं ने सामाजिक संस्थाओं के सहयोग की सराहना करते हुए कहा कि जल्द ही उनके अस्पताल का नेशनल स्तर पर क्वालिटी टेस्ट हो रहा है। इसके बाद उन्हे सरकार की ओर से 5000 हजार बेड की सुविधा मिलने लगेगी।
भारी असुविधाओं से जूझ रहे सिविल अस्पताल में सरकार और स्वास्थय विभाग कोई सुविधा मुहैया करा पाये या न, लेकिन सामाजिक संस्थाएं कभी बेडों के लिए बिस्तर व दूसरे सामान उपलब्ध कराकर इसकी दशा सुधारने का प्रयास कर रही है। या यह कहा जा सकता है कि अब सरकारी अस्प्ताल सामाजिक संस्थाओं की दया व दान पर ही निर्भर है। आज भी राष्ट्रीय जैन महिला जागृति मंच और रोटरी क्लब फरीदाबाद ग्रेटर ने सिविल अस्पताल को 16 नए बेड बिस्तर सहित और एक सौ चादरे दी। ताकि अस्पताल में साफ चदरे बिछाई जा सकें और दूसरे संशाधनों के लिए भी अस्पताल को सरकार पर निर्भर न होना पड़े। दोनो संस्थाओं ने पहले गायनी वार्ड को ही अडोप्ट किया है, इसके बाद दूसरे विभागों का भी कायाकलप करने का प्रयास किया जायेगा। 
दान देने वाली सामाजिक संस्थाओं के  पदाधिकारियों विकास भाटिया व माधवी जैन का कहना है कि उन्होने अस्पताल केे लिए नहीं, बल्कि उन मरीजों के लिए किया है, जो गरीब है और सरकारी अस्पताल में अपना ईलाज कराने आते है। उनका प्रयास रहेगा कि आगे भी वे इस तरह के कार्यक्रम अस्पताल के लिए करते रहे। 
सिविल हॉस्पिटल बी के पीएमओं डा.वीरेन्द्र यादव का कहना है कि सरकार और सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से ही अस्पताल की दशा सुधारी जा सकती है। वैसे भी सरकारी अस्पताल में पहले के मुकाबले काफी सुधार हुआ है। नेशनल क्वालटी टैस्ट में पास होने के बाद सरकारी स्तर पर अस्पताल को अधिक सुविधाएं मिलेंगी। जच्चा-बच्चा वार्ड को चुनना सराहनीय कदम है। सरकार की ओर से भी मातृत्व व शिशु दर में कमी लाने के प्रयास किए जा रहे है।


loading...
SHARE THIS

0 comments: