Wednesday, August 24, 2016

स्वर संगीत कला केन्द्र द्वारा गज़ल की एक शाम



फरीदाबाद 24 अगस्त,2016(abtaknews.com ) स्वर संगीत कला केन्द्र द्वारा एक गज़ल कार्यक्रम का आयोजन होटल डिलाईट में आयोजित किया गया। इस अवसर पर स्वर संगीत कला केन्द्र की संचालिका राधा ने गज़ल के टिप्स समझाये और उन्हें बताया कि संगीत ही वह माध्यम है जिससे आप अपने मानसिक तनाव को कम कर सकते है। उन्होंने कहा कि मेरा सदैव यही प्रयास रहा है कि हम अपने सुख दुखों को संगीत के माध्यम से दूर करे और उसके लिए ही उन्होंने संगीत कला का शुभारंभ किया था और आज मेरी इस मुहिम आगे बढ़ रही है जिसके लिए मैं आप सभी की आभारी हूं।
 इस अवसर पर  पुनम गर्ग बडी देर भई नन्दलाला, डा. सविता कैसे शुकुन पाऊ, संजना तुम इतना जो मुस्करा, सुषमा विरमानी दिल में किसी के प्यार का, सुनिता शर्मा दिल की ये आरजू, मंजु आधा है चन्द्रमा, मोनिका जब कोई बात बिगड जाये, प्रतिमा रंजिश ही सही, नीलम अरोडा तुमको देखा तो ये, सुनिता हजुर इस कदम भी न, राशि मुझे दर्दे दिल का, डा. सोनिया हमे दुश्मन की निगाहो ंसे, विनि जैन एहसान तेरा होगा, अंजु गुप्ता ये तो सच है कि भगवान, मुक्ता होठो से छू लो तुम, पुष्पा गुप्ता किसी नजर को तेरा, रश्मी कभी किसी को मुक्कम्मल,  सीमा उप्पल चरखा मेरा रंगला, नितिका ताल से ताल मिला, प्रियंका नी मै यार मनाना नी, विनिता ग्रोवर अज दिन चढैया, स्नेह यादव ऐ मोहब्बत तेरे अन्जाम पे, अलका वेद जल से उल्फत ये हमें, सुषमा मल्होत्रा ऐ मेरे दिल ए नांदा, सुनिता भास्कर दिल में एक लहर सी, कुसुम तेरे आने की जब खबर महके, शोभा मलिक रहते थे कभी जिनके, रेनुका यादव इसमें उलफत को निभाएं, पुष्पा गोयल सुना था कि वो आयेेंगे, नीरू ने चांदी जैसा रंग है तेरा, रितु ने सफर में धूप तो होगी, सुमन घई बेताब दिल की तमन्ना, विनिता पांडे कल चौदहवी की रात थी, वन्दना गांधी बेमुरबत बेवफा बेगाना, अनता ठक्कर  गर तुम भुला ना दोगे, नीरज दुआ आपको देखकर देखता रह गया, रेनू भाटिया जुर्रत झु जिसकी थी, किरण शर्मा रफ्ता रफ्ता वो मेरी, डा. विनिता ने आवारगी, निवेदिता ये क्या जगह है दोस्तो, सोनू अरोडा ऐ दिल ए नांदा, पुनिता भाटिया जग घुमैया चारे जैसा, गोविन्दा आला रे, भक्तो के राजा श्याम, श्रेया गुप्ता ने अपनी आवाज का जादू बिखेरा और आये हुए अतिथियों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस मौके पर संचालिका गुरू राधा ने कहा कि आज इन गीतों के माध्यम से आप सभी ने अपने अपने स्वर को काफी सुधारा है जो कि वाकई में काबिलेतारिफ है इसीलिए आप सभी को इस कार्यक्रम की सफलता पर मैं बधाई देती हुं।


loading...
SHARE THIS

0 comments: