Wednesday, August 24, 2016

आईसीएफएल इंवैस्टमैंट लेब करेगा स्थापित, स्टूडेंट्स को मिलेगी प्रैक्टिकल नॊलेज


बैंकिंग आज के दौर में स्टूडेंट्स की पसंद है। इसमें इनवैस्टमेंट, कमर्शियल व प्राइवेट बैंकिंग ऐसे क्षेत्र है जिसमें स्टूडेंट्स अपना भविष्य देखते हैं। इस क्षेत्र में तैयार होने वाले स्टूडेंट्स को बाजार के ट्रैंड व मांग के बारे में अवगत होना बहुत जरूरी है। ऐसे में स्टूडेंट्स को रोजगार के लिए तैयार करने के उद्देश्य के साथ मानव रचना इंटरनैशनल यूनिवर्सिटी (एमआरआईयू) ने आईसीआईसीआई डायरेक्ट सेंटर फोर फाइनैंशियल लर्निंग (आईसीएफएल) के साथ एमओयू साइन किया है। इस एमओयू से बीबीए बैंकिंग के स्टूडेंट्स को कैंपस में ही अपने क्षेत्र की प्रैक्टिकल नॊलेज मिलेगी।
यह एमओयू मानव रचना इंटरनैशनल यूनिवर्सिटी (एमआरआईयू) की तरफ से यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॊ. एन.सी.वाधवा व आईसीआईसीआई डायरेक्ट सेंटर फोर फाइनैंशियल लर्निंग (आईसीएफएल) के वीपी एंड हैड श्री नीरज जोशी के बीच साइन किया गया। इस मौके पर मानव रचना इंटरनैशनल यूनिवर्सिटी डीन अकैडमिक्स डॊ. नरेश ग्रोवर व मानव रचना इंटरनैशनल यूनिवर्सिटी (एमआरआईयू) के रजिस्ट्रार डॊ. आरके अरोड़ा मौजूद रहे।  श्री नीरज जोशी को बैंकिंग का १३ साल का अनुभव है। इसमें इक्यूटि, कमोडिटी, म्यूचल फंड्स, फिक्स डिपोसिट आदि के मास्टर माने जाते हैं। आईसीएफएल आज के दौर में इंवैस्टमैंट एजुकेशन व प्रफैशनल सर्टिफिकेशन फाइनैंस फील्ड में देने के लिए पहचाना जाता है।
इंवैस्टमैंट लैब में मिलेगी प्रैक्टिकल नॊलेज--आईसीएफएल कैंपस में अपनी इंवैस्टमेंट लैब स्थापित करने वाला है। इस लैंब में स्टूडेंट्स को प्रैक्टिकल नॊलेज तो मिलेगी ही। साथ ही साथ वह वर्चअल ट्रेडिंग व रिस्क फ्री इंवैस्टमेंट में भी जुड़ेंगे। एमओयू के बारे में एमआरआईयू के वाइस चांसलर डॊ. एन.सी.वाधवा का कहना है कि इस एमओयू से बीबीए बैंकिंग स्टूडेंट्स को आज के दौर की आधुनिक व क्वालिटी नॊलेज मिलेगी। स्टूडेंट्स बाजार की जरूरत को समझेंगे और इनवैस्टमेंट लैब में प्रैक्टिकल नॊलेज प्राप्त करेंगे। टाइअप उद्योग और शिक्षा जगत के बीच बेहतर तालमेल स्थापित कर नई खोजों को भी स्थापित करने में मदद करेगा।
वहीं इस बारे में आईसीएफएल के वीपी व हैड श्री नीरज जोशी ने कहा कि यह हमारा वादा है कि यह एमओयू बैंकिंग स्टूडेंट्स को बाजार की जरूरत के अनुसार तैयार करेगी। इसके लिए स्टूडेंट्स को प्रैक्टिकल नॊलेज दी जाएगी और एक बेहतर प्रैफेशनल तैयार करने का हर संभव प्रयास किया जाएगा। स्टूडेंट्स बाजार की हर गतिविधि से अवगत होंगे और हर नए ट्रैंड के अनुसार मॊडयूल में बदलाव किए जाएंगे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: