Monday, August 29, 2016

जीवनदायिनी सोशल फाउंडेशन के सहयोग सेमैरो ड्राइव का आयोजन



फरीदाबाद (abtaknews.com )पहले बोन मैरो डोनर रजिस्ट्रेशन कैंपेन की अपार सफलता के बाद डॊ. ओपी भल्ला फाउंडेशन जीवनदायिनी सोशल फाउंडेशन के सहयोग से दूसरे कैंपेन का आयोजन किया गया। डॊ. ओ.पी.भल्ला फाउंडेशन के तत्वावधान में दात्री, भारत की सबसे बड़ी स्टैम सैल डोनर रजिस्ट्री के तकनीकी सहयोग के साथ बोन मैरो ड्राइव का आयोजन सोमवार को मानव रचना कैंपस में किया गया। एमआरआईयू में आयोजित किए गए बोन मैरो रजिस्ट्रेशन ड्राइव में २०१ ने रजिस्टर किया। इस मौके पर दात्री से आई श्रीमति गायत्री वेनुगोपल व श्रीमति दिप्ती कुभार ने प्रैसंटेशन के माध्यम से बोन मैरो डोनेशन के बारे में बताया। 
बोन मैरो डोनेशन व लयूकेमिया जागरुकता महीना १५ अगस्त से १५ अक्टूबर तक मनाया जा रहा है। बोन मैरो ड्राइव भी इसी का एक हिस्सा है। यह आयोजन युवाओं को रक्त से जुड़ी बीमारियों जैसे लयूकेमिया, थैलिसिमिया, एप्लीस्टिक एनीमिया के बारे में जागरुक करने के लिए किया गया। इस ड्राइव में बोन मैरो ट्रांसप्लांट, पैरीफैरल ब्लड स्टैम सैल डोनेशन व कोर्ड ब्लड स्टैम सैल डोनेशन आदि के बारे में बातचीत सैशन का आयोजन भी किया गया। 
इस बारे में डॊ. ओपी भल्ला फाउंडेशन व मानव रचना शैक्षणिक संस्थान की मुख्य संरक्षका श्रीमति सत्या भल्ला ने कहा कि बोन मैरो ट्रांसप्लांट खराब खून बनाने वाली सैल को स्वस्थ सैल से बदलता है। इसके लिए बोन मैरो देने वाले इंसान का बोन मैरो मैच होना चाहिए। हर व्यक्ति में खून बनाने वाली सैल विरासत में मिलती है। इसलिए यह धारणा है कि यह सैल परिवार के सदस्यों से मेल खाती है, लेकिन ३० प्रतिशत  ही यह परिवार से मेल खाती है, बाकि अन्य ७० प्रतिशत केस में इसके लिए डोनर ढूंढना पड़ता है। मुझे बहुत खुशी है कि संस्थान ने इस बारे में जागरुकता फैलाने में अपना सहयोग दिया। वहीं जीवनदायिनी सोशल फाउंडेशनल की प्रेसिडेंट श्रीमति मधुलिका जैन ने सभी को इस ड्राइव का हिस्सा बनने के लिए प्रोत्साहित किया और कहा कि मुझे खुशी है कि समाज को कैंसर से मुक्त बनाने केलिए लोग आगे आए हैं और इस ड्राइव का हिस्सा बने। उन्होंने कहा कि यह एक और कदम है और भविष्य में बोन मैरो डोनेशन के लिए लोगों को जागरुक करने के लिए और भी प्रयास जारी रहेंगे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: