Wednesday, August 31, 2016

गुजरात उजाला के अंतर्गत दो करोड़ एलईडी बल्‍बों का वितरण करने वाला पहला राज्‍य


भारत सरकार की उन्‍न्‍त ज्‍योति बाई एफॉरडेबल एलईडी फॉर ऑल (उजाला) योजना के तहत दो करोड़ एलईडी बल्‍बों का वितरण करने वाला गुजरात पहला राज्‍य बन गया है। गुजरात ने यह कारनामा केवल 96 दिनों में कर दिखाया है और 42 लाख से अधिक घरों को इस योजना का लाभ मिल चुका है। केन्‍द्रीय बिजली मंत्रालय के अधीन एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) गुजरात में रोज लगभग दो लाख बल्‍ब वितरित कर रहा है जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है।  
जाम नगर में अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा था, एलईडी वितरण के सम्‍बंध में एक दूसरे को पीछे छोड़ने की राज्‍यों के बीच प्रतिस्‍पर्धा हो रही है। गुजरात 100 दिनों से भी कम समय में एलईडी वितरण के संबंध में देश में सबसे आगे है। मैं एलईडी बल्‍ब कार्यक्रम का कार्यान्‍वयन करने वाले पूरे दल को बधाई देता हूं। मुझे भरोसा है कि गुजरात का हर घर एलईडी को अपनायेगा और बिजली के खर्च को बचायेगा। राज्‍य ऊर्जा की सुरक्षा करेगा और इस तरह पर्यावरण को बचाने में सहायता करेगा।
दो करोड़ एलईडी बल्‍बों के वितरण से हर वर्ष 259 करोड़ केडब्‍ल्‍यूएच की बचत होगी जो पूरे वर्ष के दौरान 5 लाख घरों में दी जाने वाली बिजली के बराबर है। यूनिट्स की बचत के साथ-साथ राज्‍य 5 हजार टन के संबंध में रोज सीओ2 उत्‍सर्जन की कटौती से भी लाभान्वित होगा। इस कार्यक्रम से राज्‍य को 520 मेगावॉट की अधिकतम मांग की पूर्ति के सम्‍बंध में भी सहायता मिली है।
गुजरात में उजाला योजना के अंतर्गत 9 वॉट के एलईडी बल्‍ब वितरित किये जा रहे हैं। इन बल्‍बों के लिए तकनीकी खराबी आने पर तीन साल की रिप्‍लेसमेंट वॉरंटी मुफ्त दी जा रही है। बल्‍ब प्राप्‍त करने के लिए उपभोक्‍ता एक मुश्‍त 70 रुपये प्रति बल्‍ब की कीमत चुका कर उन्‍हें प्राप्‍त कर सकते हैं या वे ईएमआई का विकल्‍प भी ले सकते हैं। जो उपभोक्‍ता ईएमआई के जरिये बल्‍ब लेना चाहते हैं, उन्‍हें शुरूआत में 75 रुपये देने होंगे और शेष भुगतान 20 रुपये प्रति एलईडी बल्‍ब के हिसाब से उनके द्विमासिक बिजली के बिल में जोड़ा जायेगा। भुगतान की कुल अवधि 4 बिल-साईकिल की होगी। उपभोक्‍ता को अपने बिजली के बिलों में प्रति एलईडी के हिसाब से हर वर्ष लगभग 336 रुपये की बचत होगी। इस तरह केवल तीन महीनों में ही एलईडी बल्‍ब एक तरह से मुफ्त हो जायेंगे। राज्‍य सरकार का लक्ष्‍य पूरे राज्‍य में 12 करोड़ एलईडी बल्‍बों का वितरण करने का है। इससे लगभग 650 करोड़ केडब्‍ल्‍यूएच बिजली बचेगी और लगभग 2500 करोड़ रुपये की लागत बचत होगी।
अन्‍य वितरण केन्‍द्रों की सूची www.ujala.gov.in पर देखी जा सकती है। उजाला के संबंध में प्रश्‍नों और सूचनाओं के लिए उपभोक्‍ता गुजरात हेल्‍पलाइन 0265-2343678 पर संपर्क कर सकते हैं। वितरण अवधि के दौरान शहर में चलने वाले किसी भी वितरण काउंटर के जरिये बल्‍बों को बदला जा सकता है।
उजाला के अंतर्गत पूरे भारत में अब तक 15 करोड़ से अधिक एलईडी बल्‍बों का वितरण किया जा चुका है। इससे प्रतिवर्ष 1948 करोड़ केडब्‍ल्‍यूएच ऊर्जा की बचत हो रही है और 3900 मेगावॉट की अधिकतम मांग के संदर्भ में फायदा हो रहा है। इस कार्यक्रम के जरिये उपभोक्‍ताओं के बिजली के बिलों में जो आमूल कटौती हो रही है वह 7990 करोड़ रुपये वार्षिक के बराबर है। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: