Friday, August 12, 2016

वृंदावन, मथुरा देवभूमि की झलक दिखेगी पंखा मेले में



फरीदाबाद 12 अगस्त,2016(abtaknews.com) पंखा मेला को कमेटी भव्य आकार देने में जुटी हुई है। इस बार मेले में मथुरा एवं वृंदावन देवभूमि के साक्षात दर्शन होंगें। देवी देवताओं की अलौकिक, मनोहारी एवं सजीव झांकियां इस बार विशेष आर्कषण का केंद्र रहेंगीं। मेंले में उक्त 21 भव्य झांकियों के साथ भक्ति एवं देशभक्ति गीत प्रस्तुत करते प्रसिद्ध 21 बैंड पार्टियां चलेगीं। प्राचीन इतिहास एवं सामाजिक कुरूतियों के प्रति जागरूकता को दर्शाती विभिन्न सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों की झांकिया भी मेले में शामिल होंगी।
ओल्ड फरीदाबाद स्थित प्राचीन पथवारी मंदिर से प्रतिवर्ष रक्षा बंधन के दिन शुरू होने वाले पंखा मेला का उद्घाटन पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा करेगें। मेला प्रबंधन कमेटी के प्रधान नितिन सिंगला ने अबतक न्यूज़ पोर्टल से विशेष बातचीत में बताया कि तीन चरणों में संपन्न होने वाले पंखा मेला की तैयारी के लिए अलग अलग कमेटी बना दी गई हैं। प्रत्येक कमेटी एक दूसरे का सहयोग करेगी सभी मेला कमेटी के पदाधिकारी प्रधान एवं चेयरमैन के संपर्क में रहते हैं पूरी टीम के अथक प्रयास से ही मेले का आयोजन किया जाता है जिसमें 36 बिरादरी का पूर्ण सहयोग मिलता है।
मथुरा एवं वृंदावन की प्रसिद्ध झांकियां रहेंगी आर्कषण का केंद्र--- मेला प्रंबधन कमेटी प्रधान नितिन सिंगला ने बताया कि इस बार मेले को भव्य रूप देने के लिए मथुरा एवं वृंदावन के कलाकारों की अदभुत एवं अलौकि झांकियां मेले का विशेष आर्कषण का केंद्र रहेंगी। झांकियों के साथ साथ चलने वाले सभी बैंड जो कि देश के प्रसिद्ध बैंड होंगें जिसमें बैगपाईपर बैंड, आर्मी बैंड, दिल्ली के मशहूर बैंड पार्टियां देशभक्ति एवं भक्तिगीतों की मोहक प्रस्तुतियां देंगें।
समाज की झांकियां पहली बार करेगी शिरकत--- प्राचीन पंखा मेला में इस बार सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों की मनोहारी झांकियां शिरकत करेंगीं क्योंकि यह 36 बिरादरी का मेला है। इस बार सैनी समाज, वाल्मीकि समाज, वैश्य समाज,ब्राह्मण समाज,पंजाबी समाज एवं समस्त आरडब्लूए और सामाजिक व धार्मिक संघठनो की झांकिया मेले में रहेंगी। पंखा मेला शहर की सुख-शांति, वैभव एवं आपसी भाईचारे के लिए प्रतिवर्ष रक्षा बंधन के दिन शुरू किया जाता है और मां पथवारी से मंगल कामना की जाती है कि मां इस शहर को देवीय प्रकोपों से बचाना, यहां सुख-शांति कायम रहे और सभी आपस में मिल जुलकर रहें।
कौन कौन सी होंगी झांकियां--पंखा मेला कमेटी प्रधान नितिन सिंगला ने बताया कि इस बार शोभायात्रा में सबसे आगे विशालकाय पंखा एक भव्य रथ पर विराजमान होगा। इसके अलावा रामदरबार, श्री कृष्ण का विराट स्वरूप दर्शाती झांकी, माता शेरावाली, लक्ष्मी माता, गणेशजी, नृत्य करते शिव पार्वती, विष्णुअवतार, गापियों संग नृत्य करते कृष्णजी की झांकी और महाराज अग्रसेन की झाकी शामिल हैं।
मेला कमेटी के चेयरमैन शिवशंकर भारद्वाज, प्रधान नितिन सिंगला, महासचिव जवाहर ठाकुर और कोषाध्यक्ष बालकिशन गोयल के अलावा, पवन गर्ग, दिनरात तैयारियों में जुटे हुए हैं।


loading...
SHARE THIS

0 comments: