Tuesday, August 30, 2016

चिकनगुनियां रोग का प्रकोप फरीदाबाद में नहीं;- डॉ वीरेंदर यादव




फरीदाबाद-अगस्त 30,2016(abtaknews.com) एक तरफ जहां देश की राजधानी और फरीदाबाद से सटी दिल्ली में चिकनगुनिया का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है और लोगों में सामन्य बुखार होने पर भी भय बना हुआ है, वहीं फरीदाबाद में अभी तक स्वास्थय विभाग के पास चिकनगुनियां कोई केस सामने नहीं आया है। हांलाकि लोगों में इसे लेकर भय जरूर है और निजी अस्प्ताल चिकनगुनियां बिमारी को लेकर जमकर मरीजों का शोषण कर रहे है। 
कभी मलेरिया तो कभी डेंगू बरसात के सीजन में अपनी भयावह स्थिति को दर्शाता रहा है। लेकिन इस बार सबसे अधिक भय चिकनगुनियां को लेकर है, जो मरीज को दूसरी बिमारियों के लक्ष्णों के साथ जोडो व मसल में तेज दर्द के कारण बेहाल कर देता है। या यूं कहे कि मरीज के अन्दर की पूरी ताकत इस बिमारी में जबाव दे जाती है। बरसात इस बार अधिक होने के कारण मच्छरों की संख्या भी बढ़ी है। फरीदाबाद में इस बरसाती सीजन में मलेरियां के 29 मामलें और डेंगू के चार मामलें पोजेटिव पाये गए है। जबकि चिकनगुनियां का एक भी मामला अभी तक स्वास्थय विभाग के रिकार्ड में नहीं है। 

बी के सिविल अस्पताल के प्रधान चिकित्सा अधिकारी डा. वीरेन्द्र यादव ने बताया कि फरीदाबाद में चिकनगुनियां का कोई मामला उनके संज्ञान में नहीं आया है। सामन्य बुखार केे काफ ी मरीज रोजाना अस्पताल जरूर आ रहे है। मलेरियां व डेंगू के भी पोजेटिव मामलें आए है। उनका कहना है कि लोग चिकनगुनियां से घबराये नहीं और बुखार होने पर दवा के साथ-साथ आराम जरूर करें। चिकनगुनियां में सामन्य बुखार के लक्षणों के अलावा जोडो व मसल में तेज दर्द होता है। ऐसे में डाक्टर की सलाह लेकर जांच जरूर करायें और बुखार पीडि़त से थोडी दूरी बनाकर रखें। 


loading...
SHARE THIS

0 comments: