Tuesday, August 2, 2016

चंडीगढ़ में उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री विपुल गोयल ने ली अधिकारियो की मीटिंग



चण्डीगढ़, 2 अगस्त,2016(abtaknews.com )हरियाणा के उद्योग एवं वाणिज्य तथा औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री श्री विपुल गोयल ने औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे आईटीआई को कैम्पस प्लेसमेंट केन्द्र के रूप में विकसित करें ताकि युवाओं का रूझान आईटीआई शिक्षा के प्रति और अधिक बढ़े। गुड़गांव की आईटीआई को भी मॉडल आईटीआई बनाया जा रहा है। इसके अलावा, अम्बाला शहर, रेवाड़ी, बहादुरगढ़, करनाल व गुड़गांव की महिला आईटीआई को डिजिटल आईटीआई बनाने पर कार्य चल रहा है।
श्री विपुल गोयल ने आज यहां हरियाणा सचिवालय में स्थित राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र में विभाग की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री आर.आर.जोवल तथा निदेशक अंशज सिंह ने विभाग की गतिविधियों पर प्रस्तुतिकरण दिया। 
श्री गोयल ने कहा कि आईटीआई तकनीकी शिक्षा का आधार है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ‘कौशल विकास’ तथा ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए आईटीआई में नए ट्रेड आरंभ करने की आवश्यकता है कम शिक्षित युवाओं को भी रोजगार सक्षम बनाया जा सके। उन्होंने बताया कि औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग राज्य का ऐसा पहला विभाग है जिसे पेपरलैस बनाया गया। उन्होंने कहा कि इस वर्ष भी हरियाणा में सभी सरकारी और निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) में ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया अपनाई गई है ताकि विद्यार्थी अपने विकल्प के अनुरूप आईटीआई व ट्रेड का चयन कर सकें।
 बैठक में इस बात की भी जानकारी दी गई कि सरकारी आईटीआई व निजी संस्थानों में दाखिले के लिए लगभग 81500 सीटें उपलब्ध करवाई गई थी और इनमें दाखिले के लिए 1,37,863 आवेदन प्राप्त हुए जिस पर दाखिला प्रक्रिया जारी है। इस बात की भी जानकारी दी गई कि सभी को-एजुकेशनल संस्थानों में महिलाओं के लिए 30 प्रतिशत सीटें आरक्षित हैं, जबकि मेवात में सभी सरकारी आईटीआई में मेवात क्षेत्र के आवेदकों के लिए 50 प्रतिशत सीटें आरक्षित की गई हैं। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: