Thursday, August 4, 2016

स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर कानून -व्यवस्था को पुलिस मुस्तैद




चण्डीगढ़, 04 अगस्त,2016(abtaknews.com) स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर कानून -व्यवस्था को बनाए रखने तथा किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए गुडग़ांव जिला प्रशासन ने 10 से 16 अगस्त, 2016 तक जिले में  रिमोट नियंत्रित ड्रोन एवं ग्लाइडर्स उड़ाने पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है। गुडग़ांव जिला मजिस्ट्रेट श्री टी.एल.सत्यप्रकाश ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि यह प्रतिबंध दंड प्रक्रिया संहिता,1973 की धारा 144 के तहत लगाया है ताकि आतंकियों और असामाजिक तत्वों द्वारा इनका दुरुपयोग न किया जा सके। 
 उन्होंने बताया कि पुराने वाहनों, विशेषकर एम्बेस्डर कारों की खरीद-फरोख्त के संबंध में जानकारी जुटाने के भी निर्देश दिए गए हैं। खरीददारों तथा विक्रेताओं का विवरण अर्थात नाम,पता व पूरा पता प्राप्त किया जाएगा। पुलिस प्राधिकारियों को भी किसी भी अप्रिय घटना या अप्रिय स्थिति का सामना करने तथा उससे निपटने के लिए तैयार रहने को कहा गया है। इस आदेश की अनुपालना न करने पर भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत कार्यवाही की जाएगी। 
---------------------- 
चण्डीगढ़, 3 अगस्त- हरियाणा सरकार ने सशस्त्र बलों अर्थात जल, थल एवं वायु सेना में कार्यरत हरियाणा प्रदेश के सशस्त्र बल कर्मिकों, जो आप्रेशन क्षेत्र में युद्घ या आप्रेशन, उग्रवादी या आतंकवादी हमलों या सरहदी घुसपैठ तथा संयुक्त राष्टï्र शान्ति सेना में सेवा के दौरान अपना दायित्व निभाते हुए वीरगति को प्राप्त हो जाते हैं, के परिवारजनों को दिये जाने वाले एक्स-ग्रेशिया अनुदान की राशि में बढ़ौतरी की है।  एक सरकारी प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि 24 मार्च, 2016 को या उसके बाद युद्घ में हुई मृत्यु के मामलों में अनुदान राशि को 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये किया गया है। इन मामलों में युद्घ या आईईडी धमाके तथा उग्रवादियों या आतंकवादियों या सरहदी घुसपैठियों के विरूद्घ कार्यवाही में हुई मृत्यु शामिल है।
 उन्होंने बताया कि इसी प्रकार, रक्षा प्राधिकारियों द्वारा किसी आप्रेशन या आपे्रशन के किसी विशिष्टï क्षेत्र पर विचार किए बिना, संयुक्त राष्टï्र शान्ति सेना में तैनात सशस्त्र बल कार्मिकों तथा हवाई दुर्घटना, एमटी दुर्घटना, समुद्री दुर्घटना, हृदयघात तथा प्राकृतिक आपदाओं के दौरान हुई मृत्यु को युद्घ हताहत घोषित किए जाने के मामले में भी एक्स-ग्रेशिया की दर 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये की गई है। उन्होंने बताया कि बढ़ी हुई एक्स-ग्रेशिया राशि रक्षा बलों के केवल उन कर्मिकों पर लागू होगी जो सेवा में भर्ती के समय हरियाणा के निवासी थे और 24 मार्च, 2016 को या उसके बाद वीरगति को प्राप्त हुए हैं। उन्होंने स्पष्टï किया कि पूर्ववर्ती मामलों को पुन: खोला नहीं जाएगा। एक्स-ग्रेशिया अनुदान का दावा मृत्यु होने के तीन वर्ष के भीतर किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि एक्स-ग्रेशिया राशि की अदायगी हरियाणा मुख्यमंत्री युद्घ वीर राहत कोष से की जाएगी।

loading...
SHARE THIS

0 comments: