Tuesday, August 30, 2016

युवा आगाज ने उठाया शहर में सरकारी यूनीवर्सिटी का मुद्दा, प्रदर्शन,ज्ञापन




फरीदाबाद-अगस्त 30,2016(abtaknews.com ) फरीदाबाद में एमडीयू के रीजनल सेंटर का मुद्दा फिर से गर्मा गया है, दो साल पहले छात्रों के लंबे आंदोलन के बाद कांग्रेस सरकार ने मंजूरी दे दी थी मगर भाजपा सरकार के आने के बाद ये मामला ठंडे बस्ते मे पड गया जिससे गुस्साये युवा आगाज संगठन के साथ मिलकर विद्यार्थियों ने आज लघुसचिवालय पर सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री के नाम जिलाउपायुक्त की अनुपस्थिति में तहसीलदार डाक्टर नरेश कुमार को ज्ञापन सौंपा और सरकार पर आरोप भी लगाया कि फरीदाबाद में निजी विश्वविद्यालयों के मुनाफे के लिये सरकार सरकारी विश्वविद्यालय नहीं खोलना चाहती क्योंकि जो मोटा पैसा सरकार को निजी विश्वविद्यालयों से मिलता है वो मिलना बंद हो जायेगा। 

एक बार फिर फरीदाबाद में एमडीयू के रीजनल सेंटर को लेकर आंदोलन शुरू हो गया है, दो साल पहले कांगेस सरकार द्वारा फरीदाबाद के विद्यार्थियों के लिये रीजनल सेंटर को मंजूरी दी गई थी मगर भाजपा सरकार के आने के बाद ये मंजूरी कागजों तक ही सिमिट के रह गई, रीजनल सेंटर के खुलने की उम्मीद को लेकर बैठे गुस्साये विद्यार्थियों ने फिर से सडकों पर उतरने का फेंसला कर लिया है और आज इसी कडी में सैक्टर 12 स्थिति लघुसचिवालय पर सैंकडों विद्यार्थियों ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री के नाम जिलाउपायुक्त की अनुपस्थिति में तहसीलदार डाक्टर नरेश कुमार को ज्ञापन सौंपा और मांग की कि जल्द से जल्द रीजनल सेंटर की मांग को पूरा किया जायेगा। दो साल पहले इसी मुद्दे को लेकर अनशन पर बैठे युवा आगाज छात्र संगठन के संयोजक जसवंत पवार ने बताया कि उन्होंने 12 अगस्त 2014 को रीजनल सेंटर की मांग को लेकर अनशन शुरू किया था जो कि 22 अगस्त को जिलाउपायुक्त विजय सिंह दहिया ने रीजनल सेंटर खुलवाने का आश्वासन देकर समाप्त करवाया था, जिसे कांग्रेस सरकार में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा व रोहतक सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने मंजूरी भी दे दी थी इतना ही नहीं रीजनल सेंटर के लिये फरीदाबाद में जमीन के साथ बजट भी निर्धारित कर दिया गया था मगर सत्ता परिवर्तन के साथ ही भाजपा के आने के बाद ये मांग ठंडे बस्ते में ही रह गई जिसकी बजह से दो साल पूरे होने के बाद भी रीजनल सेंटर का मुद्दा ज्यों का त्यों ही बना हुआ है। वहीं पवार ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि भाजपा सरकार और उनके मंत्री नहीं चाहते कि फरीदाबाद में एमडीयू का रीजनल सेंटर खुले क्योंकि फरीदाबाद में खुले हुये निजी विश्वविद्यालयों से मंत्रियों की सांठ-गांठ है मोटा पैसा मंत्रियों को खाने के लिये मिलता है जिसकी बजह से रीजनल सेंटर नहीं खुलने दिया जा रहा है। इसलिये अब उनकी मांग है कि उन्हें फरीदाबाद में रीजनल सेंटर नहीं विश्वविद्यालय चाहिये। साथ ही पवार ने बताया कि हरियाणा के हिसार, रोहतक, भिबानी, जींद, सोनीपत, कुरूक्षेत्र और रेवाडी जिलों सरकारी विश्वविद्यालय खुले हुए हैं वहीं फरीदाबाद के साथ लगते हुए पलवल और मेवात की जनसंख्यां की बात करें तो लगभग 50 लाख है उसके बाबजूद भी लाखों विद्यार्थी 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद दूसरे शहर में शिक्षा प्राप्त करने के लिये धक्के खाते  हैं क्योंकि उन्हें अपने शहर में विश्वविद्यालय की सुविधा नहीं है। वहीं पवार ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर जल्द से जल्द उनकी मांग नहीं मानी गई तो वो फरीदाबाद व पलवल जिले के विधायक मंत्रियों को ज्ञापन सोंपेगे। छात्रनेता अजय डागर और विशाल ने कहा है कि जब सत्ता में कांग्रेस सरकार थी तो भाजपा सरकार उनकी मांगों का समर्थन करती थी और भाजपा नेता उनके साथ धरने प्रदर्शनों में खडे हुए दिखाई देते थे मगर सत्ता में आने के बाद वो ही भाजपा सरकार छात्रों को सडक पर उतरने के लिये मजबूर कर रही है, जिससे विद्यार्थियों को काफी परेशानी का सामना करना पड रहा है उनकी मांग है फरीदाबाद को एक सरकारी विश्वविद्यालय देना चाहिये ताकि विद्यार्थियों को पढाई के समय आने वाली समस्याओं के लिये रोहतक भटकना न पडे।
वहीं प्रदर्शनकारी जिला छात्रा प्रमुख चंचल और छात्रा ममता की माने तो फरीदाबाद में एमडीयू का रीजनल सेंटर न होने के कारण उन्हें हर छोटी से छोटी पेरशानी के लिये रोहतक के लिये जाना पडता है जो कि एक छात्रा के लिये ठीक नही है। ममता ने कहा कि सरकार बेटी बचाओ बेटी पढाओ का नारा देती है क्या इसी प्रकार से बेटियां सडकों पर अपनी मांगों को लेकर उतरेंगी, क्या बेटियों को एक शहर से दूसरे शहर तक अपनी पढाई के दौरान आने वाली समस्याओं को लेकर भटकना पडेगा। इसलिये वो चाहती हैं कि सरकार उनकी मांग पर विचार करे और फरीदाबाद की छात्राओं के लिये एक एमडीयू का रीजनल सेंटर खुलवाये।
इस प्रदर्शन में नेहरू कालेज से अजय डागर, दिनेश रावत, आनंद तंवर, हिमांशू, मनीश, डीएवी से विशाल अत्री, अमित चौधरी, मोहन, कृष्ण, दिनेश, जतीन, महिला विद्यालय से जिला छात्र प्रमुख चंचल, ममता , पूजा राय, नीतू, सपना, सजिया, रूहिना, अग्रवाल कालेज से अशोक कुमार, पवन चौधरी, सुंदर लांबा,, पलवल कालेज से कृष्ण, पवन दलाल, भगत, मनोज मिडकोला, रोहित, सुमित किठवाडी, होडल से अमित चौधरी, मोहन, कृष्ण सहित सैंकडों विद्यार्थी मौजूद रहे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: