Sunday, August 7, 2016

जीडीप्रो जूनियर समापन के साथ भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार स्कूली स्टूडेंट्स

-

मानव रचना शैक्षणिक संस्थान (एमआरईआई)के द्वारा भविष्य की चुनौतियों के लिए स्टूडेंट्स को तैयार करने के उद्देश्य से आयोजित किए गए जीडीप्रो जूनियर 2016 का समापन शनिवार को एमआरईआई कैंपस में किया गया। सेंकड़ों स्टूडेंट्स में से चुने गए 15 स्टूडेंट्स ने जीत के लिए दाव लगाया और अपने शब्दों व सोच के आधार पर खुद को विजेता बनाया।  जीडीप्रो जूनियर 2016 का आयोजन पैन इंडिया में 50 से अधिक स्कूलों के बीच आयोजित किया गया। 4 स्तरों पर यह प्रतियोगिता 25 जुलाई को शुरु की गई। इसका आयोजन जयपुर, फरीदाबाद, सेंट्रल दिल्ली, साउथवैस्ट दिल्ली, लुधियाना व नोएडा में आयोजित किया गया। इसका समापन शनिवार को हुआ। समापन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर डॉ. हनीफ कुरैशी पहुंचे। इस मौके पर एलआर फूड्स लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री एच.के.बतरा, मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के एमडी डॉ. संजय श्रीवास्तव, एमआरआईयू के वाइस चांसलर डॉ. एन.सी.वाधवा व सभी स्कूलों के प्रिंसिपल, अभिभावक व अन्य गेस्ट पहुंचे। 

स्वच्छ भारत अपनी सोच प्रदर्शित कर बने विजेता
जीडीप्रो जूनियर 2016 के फाइनल्स में स्टूडेंट्स स्वच्छ भारत विषय पर एक दूसरे के आमने सामने आए। स्वच्छ भारत एक पहल है या लोगों की मानसिकता के बदलाव का नतीजा है। इस विषय पर स्टूडेंट्स को समूह में चर्चा की और इस चर्चा में अपने पक्ष को मजबूती से रखते हुए लोटस वैली स्कूल की प्रांशाला ने पहला स्थान प्राप्त किया, वहीं मानव रचना इंटरनैशनल स्कूल चार्मवुड के अंशु पहली रनरअप बनी व सतपॉल स्कूल लुधियाना की अनुषका थापर के सेकंड रनरअप का खिताब हासिल हुआ।विजेताओं को 1 लाख के प्राइज से नवाजा गया। 15 फाइनलिस्ट को गिफ्ट हैंपर व विजेताओं को कैश प्राइज के साथ ट्रैवल वाउचर प्रदान किए गए। 
इस मौके पर स्टूडेंट्स को प्रोत्साहित करते हुए डॉ. हनीफ कुरैशी ने कहा कि युवा स्टूडेंट्स को इस जज्बे व सोच के साथ देखकर काफी गौरांवित महसूस हुआ। आज के स्टूडेंट्स नया व अलग सोच रखते हैं इसलिए ग्रुप डिस्कशन से ऐसा माध्यम है जहां पर स्टूडेंट्स नई सोच को जन्म देते हैं। इस तरह के कार्यक्रम स्कूली स्टूडेंट्स को भविष्य की चुनौतियों के लिए तैयार होते हैं।

loading...
SHARE THIS

0 comments: