Monday, August 29, 2016

महिला जागरूक्ता कार्यक्रम में कानून के दुरूपयोग पर भी चेताया



फरीदाबाद 29 अगस्त(abtaknews.com )महिला प्रति अपराध को कम करने के उद्धेश्य से महिला पुलिस द्वारा किये गए जागरूक्ता सम्मेलन में जहां महिलाओं को महिला पुलिस स्टेशन, हैल्प लाइन और एफआईआर एप्स के बारे में बताया गया, वहीं उन्हे महिलाओं के लिए बने कानून के दुरूपयोग के बारे में भी चेताया गया कि ऐसा करने पर वास्तविक पीडि़त महिला की मदद भी पूरी नहीं हो पायेगी। महिला थाने के एसीपी पूजा डाबला ने महिलाओं को उनके अधिकारों के बारे में पुलिस द्वारा उनकी सहायता के चलाये गए कार्यक्रमों के बारे में अवगत कराया। महिलाओं के प्रति बढ़ रहे अपराधों को कम करने के लिए सरकार ने जहां कानून कड़े किए है, वहीं जगह-जगह महिला पुलिस थाने और महिला हैल्प लाइन नम्बर भी अलग से दिए गए है। अभी हाल ही में एफआईआर एप्स भी पुलिस ने लांच की है। जिसके माध्यम से महिला अपनेे साथ होने वाले अपराध की सीधी रपट दर्ज करा सकती है। इन्ही बातों को महिला समाजसेवी व काम-काजी महिलाओं को बताने के लिए जागरूक्ता कार्यक्रम चलाएं जा रहे है। ऐसे ही एक कार्यक्रम में महिला पुलिस थाने की एसीपी पूजा डाबला ने महिलाओं को एफआईआर एप्स के बारे में न केवल बताया, बल्कि उसे महिलाओं के मोबाइल में लोड भी कराया। पूजा डबास का कहना है कि उनके सामने अधिकांश में घरेलु हिंसा के अधिक आए है। छेडखानी व बलात्कार के भी मामले आए है। लेकिन इनकी संख्या अधिक नहीं है। महिलाओं को महिला थाने व महिला हैल्प लाइन के बारे में पता है, लेकिन एफआईआर एप्स के बारे में अधिक नहीं मालूम है। उन्होने कहा कि कानून का दुरूपयोग करने वाली महिलाओं को भी जागरूक किया जा रहा है। क्योंकि ऐसा होने पर वे वास्तविक पीडि़ता की भी उतनी मदद नहीं कर पायेंगी, जितनी उसे जरूरत है। पुरूष हरासमेंट पर उन्होने नो-कमेंट कहकर पल्ला झाड लिया। वहीं कार्यक्रम में आई महिलाओं ने जहां पुलिस के कार्यक्रम की सराहना की और समय पर मदद मिलने की बात बताई, वहीं कानून का दुरूपयोग करने वाली महिलाओं को कठोर दंड देने की वकालत भी की। इन महिला समाजसेवी का कहना है कि महिलाओं को इस बारे में भी जागरूक करेंगी।


loading...
SHARE THIS

0 comments: