Monday, August 22, 2016

ओ नैना की कामयाबी पर सौरव पंडित बोले- उन्हें फैन नहीं समर्थक चाहिये


फरीदाबाद- 22अगस्त(अबतक न्यूज़  )आज फरीदाबाद के सौरव पंडित दिल्ली एनसीआर में तेजी से उभरते हुए युवा लेखक, गायक और अदाकार का किरदार निभाने वाले स्टार बनते जा रहे हैं, सीए स्टूडेंट सौरव पंडित का मां की डांट के बाद जीवन ही बदल गया है, मां की महिमा का बखान करने वाले युवा स्टार सौरव पंडित ने अब तक  खुद की बनाई हुई तीन एलबम रिलीज कर दी है, रोहतक वाली गाने की सफलता के बाद 14 जुलाई को रिलीज हुई, ओ नैना गाने की एलबम ने एक महीने में ही आसमान की बुलंदियों को छू लिया है, एक माह में यू टयूब दर्शकों की बात करें तो उनकी संख्यां भी करीब 4 लाख तक पहुंच गई है, ओ नैना की अपार सफलता से सौरभ पंडित इन दिनों काफी खुश नजर आ रहे हैं और इस सफलता का के्रडिट अपनी मां डा. रमा कौशल को दे रहे हैं। 
हाल ही में रिलीज हुई ओ नैना एलबम के बारे में बताते हुए सौरव पंडित ने कहा कि रोहतक वाली एलबम की कामयाबी के बाद उन्होंने ओ नैना एलबम की शूटिंग पंजाब के रोपड शहर मे करने का निर्णय लिया, जो अब उन्हें सार्थक होता हुआ दिखाई दे रहा है क्योंकि 14 जुलाई को रिलीज  हुई ओ नैना गाने की एलबम ने पूरे देश में अपनी छाप छोडनी शुरू कर दी है, यू टयूब पर डालने के बाद से करीब एक माह में लगभग 4 लाख लोग इस गाने को सुन और देख चुके हैं। स्टील बर्ड इंटरटेनमेंट बेनर तले बने इस गाने को सर्वप्रथम एमएच 1 चैनल पर टैलीकास्ट किया गया जहां एक एमएच1 चैनल की शर्त के अनुसार एक सफ्ताह के बाद गाने को हटा दिया जाता है मगर लोगों द्वारा पंसद किये गये ओ नैना गाने को एक माह बाद भी एमएच 1 चैनल से नहीं हटाया गया है अभी दर्शक इस गाने को चैनल पर सुन और देख सकते हैं। 
ओ नैना गाने की कास्टिंग की बात करेें तो इस गाने को बनाने में 15 सदस्यीय टीम ने अपना योगदान दिया है, जिसमें लेखक गायक और अदाकार की भूमिका स्वयं सौरव पंडित ने निभाई है, इस गाने में महिला गायक निधि कोहली ने अपनी सुरीली आवाज से उनका साथ दिया है। एलबम में संगीत निदेशक एंक  अमन के मधुर संगीत का इस एलबम की सफलता में बहुत बड़ा योगदान है। एलबम को मिल रही शोहरत के पीछे पंडित ने अपनी मां डा.रमा कौशल का अर्शीवाद बताया है पंडित ने कहा है कि उनकी मां बेशक उन्हें डांटती है मगर उनकी कामयबी के पीछे सबसे बडी समर्थक उनकी मां ही हैं।  गाने की सफलता के बाद लोग उनके फैन हो गये हैं मगर जिनके लिये हरेक स्टार तरसता है सौरव पंडित उन्हीं फैनों को कहते हैं कि उन्हें फैन नहीं समर्थक चाहिये, जो कि उनकी सफलता की चढने वाली सीढी को दर्शाता है। एक स्टार के ऐसे शब्दों को सुनकर उनके फैन उनसे और भी ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं और उन्हें समर्थन करने के लिये आगे आ रहे हैं। सौरव पंडित ने आगे की प्लाङ्क्षनग के बारे में जिक्र करते हुए कहा है कि वे 16 दिसंबर को एक पंजाबी एलबम और रिलीज करने वाले हैं जिसकी तैयारियों में वो इन दिनों जुटे हुए हैं।
आखिर कौन है ये उभरता हुआ सितारा सौरव पंडित --सौरव पंडित फरीदाबाद सेक्टर 8 के मकान नंबर 430 में रहते हैं। उनके पिता बिजली विभाग से सेवानिवृत एसडीओ एसके कौशल, मां डॉक्टर रमा कौशल, बडे भाई विशाल कौशल और भाभी शायना कौशल व भतीजा परिधि हैं। फरीदाबाद के इस सिंगिंग स्टॉर सौरव पंडित की स्कूली शिक्षा सेक्टर 3 के तक्षशिला पब्लिक स्कूल से हुई उसके बाद उन्होंनें सीए की पढाई शुरू की। 
सौरभ पंडित एक सीए से कैसे बने गायक--सीए की पढ़ाई कर रहे सौरभ पंडित से पढाई में कुछ गडबड हुई तो मां ने सौरव को बहुत बुरी तरह डांटा, मां की फटकार सुनकर सौरव ने मां के उपर ही गाना बना दिया। मां की महिमा का दर्शाते इस गीत के बोल--माना हूं शरारती पर दिल का मैं सच्चा हूं, मां मैं कितना ही बडा हो जाउ तेरी नजर में बच्चा हूं। इस गीत पर उनकी भाभी शायना कौशल ने उन्हें खूब शाबाशी दी।
पहली एलबम कहा और कैसे बनाई--रोहतक वाली सौरव पंडित की पहली एलबम जिसके बोल थे काम कसूता कर गई छोरी रोहतक वाली जिसकी शूटिंग फरीदाबाद बाईपास, सेक्टर 10 पर हुई थी। स्वर कक्ष स्टूडियो और वीजी म्यूजिक का इस एलबम में पूरा सहयोग रहा। 

loading...
SHARE THIS

1 comment:

  1. Thanks Dushyant Sir for sharing my words with the public.

    Regards,
    Saurav_Pandit

    ReplyDelete