Wednesday, August 31, 2016

तिगांव क्षेत्र की उपेक्षा को लेकर विधानसभा में जमकर गरजे विधायक ललित नागर




फरीदाबाद(abtaknews.com ) हरियाणा विधानसभा के चालू विधानसभा सत्र के आखिरी दिन आज फरीदाबाद जिले के एकमात्र कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने जहां जिला फरीदाबाद की बदहाल कानून व्यवस्था को लेकर सरकार को जमकर घेरा। वहीं अपने गृह क्षेत्र तिगांव विधानसभा क्षेत्र में सरकार द्वारा बरते जा रहे भेदभावपूर्ण रवैये पर सदन मेें अपने हाथों में कागज लहराते हुए जमकर गरजे। विधायक ललित नागर ने विधानसभा अध्यक्ष को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल की कार्यशैली पर ही सवाल उठाते हुए कहा कि झूठ का इससे बडा प्रमाण क्या होगा, जब सदन के नेता मुख्यमंत्री ही विधानसभा में झूठ का पिटारा खोलते है। उन्होंने सवाल उठाया कि मुख्यमंत्री एक ओर तो प्रदेश में समान विकास की बात कर प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में विधायकों द्वारा 5-5 करोड रूपए के विकास ग्रांट देने की बात की जाती है, जबकि दूसरी तरफ जमीनी सच्चाई कुछ और ही बयां करती है। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री बताए कि तिगांव विधानसभा क्षेत्र के विधायक ललित नागर के नाम से दो साल में मुख्यमंत्री द्वारा कथित रूप से घोषित 10 करोड की विकास राशि आखिर कहां है। वहीं उन्होंने स्मार्ट सिटी बखियां उधेडते हुए कहा कि उनका तिगांव क्षेत्र दिल्ली-बदरपुर बॉर्डर से लगता हुआ क्षेत्र है तथा जब भी कोई वीवीआईपी या आम आदमी दूसरे प्रदेश से फरीदाबाद जिले में प्रवेश करता है तो वहां शुरूआत में ही लगे गंदगी के ढेर स्मार्ट सिटी के नारे को झुठलाते दिखाई देते है। विधायक ने जिले की कानून व्यवस्था पर बोलते हुए कहा कि आज समूचे फरीदाबाद जिले में कानून व्यवस्था का दिवाला पिट चुका है, दिनदिहाडे लूट, डकैती, हत्याएं एवं महिलाओं के साथ बलात्कार जैसे घिनौने पाप किए जाना आम बात हो गई है, पुलिस व जिला प्रशासन के अधिकारी मात्र केंद्र व राज्य में बैठे सत्ताधारी बडे नेताओं की कठपुतली बनकर रह गए है और जनता चारों ओर त्राहि-त्राहि कर रही है। उन्होंने आवाज उठाते हुए कहा कि वह जनता पर जुल्म सहन नहीं करेंगे और अगर सदन में उनकी बात को नहीं माना गया तो वह जनता के साथ सडकों पर उतरकर आंदोलन करने से गुरेज नहीं करेंगे क्योंकि उन्होंने लगातार चार बार विधानसभा के सभी सत्रों मेें अपने क्षेत्र के विकास की गुंहार लगाई है लेकिन सरकार ध्यान नहीं दे रही है। वहीं विधायक ललित नागर ने अपने क्षेत्र की अन्य प्रमुख समस्याओं पर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि गांव तिगांव की सदपुरा से भैंसरावली तक की फिरनी को पक्का किया जाए वहीं लगभग 50 हजार की आबादी वाले क्षेत्र के सबसे बडे गांव तिगांव में अविलंब सीवर लाईन डाली जाए ताकि जलभराव की समस्या से निजात मिल सके। इसके अलावा क्षेत्र की लगभग सभी टूटी हुई सडकों के पुन: निर्माण, जिनमें तिगांव से अरूआ वाया कौराली, कौराली से चांदपुर, भैंसरावली से मंधावली, पल्ला पुल से बंसतपुर तक आदि प्रमुख सडकों पर तत्परता से कार्य किया जाए। इसके अलावा पल्ला पुल से बंसतपुर, तिलपत तक लगभग 40 कालोनियां है, इन सभी कालोनियों में मूलभूत सुविधाओं का अभाव है, जिसके चलते यहां के बाशिंदे नारकीय जीवन जीवने को मजबूर है इसलिए इन कालोनियों मे मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाए वहीं इन उपरोक्त कालोनियों में दिल्ली प्रदेश से आ रहे गंदे पानी पर तुरंत रोक लगाई जाने की मांग रखी। वहीं तिलपत गांव में महाविद्यालय खोलने, अगवानपुर में नगर निगम की खाली जमीन पर सीएचसी अस्पताल बनाने जैसी कई मांगें श्री नागर ने सदन में पुरजोर तरीके से उठाई। इसके अलावा विधायक ललित नागर ने तिगांव क्षेत्र की सभी ग्राम पंचायतों के नवनियुक्त पंच-सरपंचों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है कि सरकार को बने दो साल हो गए है, लेकिन दो वर्ष में किसी भी सरपंच के पास फूटी कौडी भी विकास कराने के लिए नहीं मिली है। उन्होंने पंचायत राज एक्ट को प्रमुखता से लागू करने पर बल देते हुए सभी सरपंचों को विकास राशि दिए जाने की पुरजोर तरीके से मांग उठाई। विधायक ललित नागर द्वारा उठाए गए सवालों का जवाब देते हुए सदन के नेता मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सदन में आश्वासन दिया कि उनकी सभी मांगों को प्रमुखता से हल करवाया जाएगा।


loading...
SHARE THIS

0 comments: