Friday, August 5, 2016

नैशनल लेवल प्लेयर्स स्टेट चैंपियनशिप में लगा रहे जीत की बाजी




मानव रचना स्पोटर्स अकैडमी (एमआरएसए) में फरीदाबाद डिस्ट्रिक्ट बैडमिंटन असोसिएशन (एफडीबीए) के द्वारा आयोजित की जा रही है 50वीं डॉ. ओपी भल्ला हरियाणा स्टेट सब जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप में नैशनल स्तर पर खेल चुके खिलाड़ी जीत की बाजी लगी रहे हैं। नैशनल लेवल के प्लेयर्स के साथ खेल न ही जिले के खिलाडिय़ों को खेल से जुड़ी नई टैक्नीक सिखने को मिल रही है, बल्कि वह अपनी प्रतिभाओं को भी निखारने में लगे हैं। इन नैशनल खिलाडिय़ों ने शेयर की अपने सफर से जुड़े कुछ पल और सफलता के मंत्र।

विशाखापटनम में आयोजित हुई नैशनल चैंपियनशिप का विजेता बनकर मेरी लाइफ में बदलाव आया। मैंने अपनी बैडमिंटन की ट्रेनिंग सोनीपत से की थी । मैं दिन में सात घंटे बैडमिंटन की प्रैक्टिस करता हूं और मेरा आंतरिक बल और स्ट्रोक प्ले ने मुझे बैडमिंटन का बेहतर प्लेयर बनाया है। यहीं नहीं अच्छे कोच का साथ बहुत जरूरी होता है, जो मुझे मिला। 

जयंत राणा, लिटर एंजल स्कूल, सोनीपत- नैशनल बैडमिंटन प्लेयर
बनारस में आयोजित हुई सीबीएसई नैशनल चैंपियनशिप से मैं नैशनल लेवल चैंपियन बना। मैं पूरी मेहनत के साथ हफ्ते के सातों दिन प्रैक्टिस करता हूं। मेरे कोच के साथ प्रैक्टिस का मेरा अलग समय निश्चित है। मुझे बैडमिंटन से प्यार है, इसलिए इसके लिए बहाया गया पसीना मुझे संतुष्टि देता है। मैं खुश हूं कि मैं स्टेट लेवल इस चैंपियनशिप के लिए एमआरएसए आया और बेहतर सुविधाओं में मुझे खेलने का मौका मिला।
महिमा तोमर, लिटर एंजर स्कूल, सोनीपत- नैशनल बैडमिंटन प्लेयर
मैं बहादुरगढ़ में ट्रेनिंग करता हूं और दिन में 4 घंटे प्रैक्टिस करता हूं। मैं बिना रुके एक घंटे तक खेल सकता हूं। मेरी प्रतिभा को उस समय सराहना मिली, जब मैंने हैदराबाद में आयोजित हुई ऑल इंडिया बैडमिंटन चैंपियनशिप में दूसरा स्थान प्राप्त किया। मुझे भारत में छठी रैंकिंग प्राप्त है। मैं मेहनत में विश्वास करता हूं और स्टेट चैंपियनशिप में खेल कर खुद को और निखारने की कोशिश कर रहा हूं। यहां पर खिलाडिय़ों में खेल भावना है।
भारत, डीपीएस सुशांत लोक, गुडग़ांव, नैशनल लेवल प्लेयर

loading...
SHARE THIS

0 comments: