Friday, August 12, 2016

प्रदेश और केन्द्र सरकार में दलितों पर अत्याचार सहन नहीं:- चंदेलिया



फरीदाबाद, 12 अगस्त,2016 (abtaknews.com ): दलितों और सफाई कर्मचारियों के प्रति प्रदेश सरकार के रवैये के खिलाफ लोगों में नाराजगगी बढ़ती जा रही है। सफाई कर्मचारियों का आरोप है कि न तो केन्द्र सरकार और न ही प्रदेश सरकार दलितों और सफाई कर्मचारियों के हित में सोच रही है। लिहाजा, दोनों ही सरकार दलितों और सफाई कर्मचारियों का शोषण कर रही। इससे इन कर्मचारियों की काफी दुर्दशा हो रही है।
अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस के राष्ट्रीय महामंत्री सोहन सिंह ने एनआईटी स्थित गोल्फ क्बल में आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि
वर्ष 2014 में जब से केन्द्र और प्रदेश में भाजपा की सरकारें बनी हैं, देश और प्रदेश में दलितों पर अत्याचार बढ़े हैं। यदि इन अत्याचारों पर भाजपा सरकार ने अंकुश लगाने की प्रयास नहीं किया तो वे अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस के झंडे तले देशव्यापी आंदोलन छेडऩे के लिए मजबूर होना पड़ेगा। अखिल भारतीय सफाई मजदूर कांग्रेस एवं वीर एकलव्य दल के प्रदेश अध्यक्ष जितेन्द्र चंदेलिया पत्रकारों को संबोधित करते हए कहा कि देश की आजादी के 70 साल बाद भी दलित, मजदूर और सफाई कर्मचारियों पर शोषण जारी है। सफाई कर्मचारी आज भी परंपरागत साधनों से सफाई करने को मजबूर हैं। आज भी सफाई कर्मचारियों को सिर पर मैला ढ़ोना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि एक ओर देश के प्रधानमंत्री कारपेटों पर झाड़ू चलाकर स्वच्छता अभियानों की शुरूआत करते हैं। जबकि दूसरी ओर रोजाना सफाई करने वाले कर्मचारियों के पास सफाई करने के पर्याप्त संसाधन उपल्ब्ध नहीं हैं। उन्होंने कहा कि विगत माह अपनी मांगों के समर्थन में गांव बुढ़ैना में मु यमंत्री से मिलने जा रहे सफाई कर्मचारियों पर लाठी भांजकर सफाई कर्मचारियों को घायल किया। लेकिन, अभी तक दोषी अधिकारियों पर प्रदेश सरकार द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है। लिहाजा सफाई कर्मचारियों में रोष बढ़ता जा रहा है। चंदेलिया ने कहा कि स्मार्ट सिटी के नाम पर सफाई अभियान चलाए जा रहे हैं। लेकिन, विभागों में सफाई कर्मचारियेां की पर्याप्त मात्रा नहीं होने के कारण अबतक ठेकेदारों से काम कराया जा रहा है। उन्होंने इस बाबत ठेकेदारी प्रथा को समाप्त करने की मांग की और विभागों में स्थाई सफाई कर्मचारी लगाने पर बल दिया। वहीं, आईजीसीआर के जिला अध्यक्ष कुंवर ओ.पी. भाटी ने कहा कि वे कांगे्रस के सिपाही हैं और जब-जब दलित और सफाई कर्मचारियेां पर अत्याचार होंगे, उनकी लड़ाई लडऩे के लिए यदि सडक़ों पर उतरना पड़ा तो पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा कि दलित और गरीब हमारे समाज का हिस्सा हैं और समाज सभी वर्ग के सहयोग से चलता है। पत्रकार वार्ता को कांगे्रस नेत्री राधा नरूला, आईजीसीआर के जिला अध्यक्ष कुंवर ओ.पी. भाटी, अधिवक्ता दिनेश चंदीला, सुमित गौड़, राधे श्याम, नरेन्द्र भड़ाना , देवेन्द्र, नरेश गोदारा व योगेन्द्र सहित अनेक लोग उपस्थित थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: