Tuesday, August 2, 2016

उलझने बहुत है सुलझायूँगी सभी को ये मेरा संकल्प है;- सीमा त्रिखा


फरीदाबाद-अगस्त 02,2016(abtaknews.com) सीमा त्रिखा ने कहा की उलझने बहुत है सुलझायूँगी सभी को ये मेरा संकल्प है.मुख्य संसदीय सचिव सीमा त्रिखा लगातार बारिश से हुए जलभराव को लेकर बहुत चिंतित है और इस समस्या के समाधान के लिए चिंतन भी कर रही है ताकि ये स्थिति भविष्य में ना हो. सीपीएस त्रिखा ने अबतक न्यूज़ पोर्टल से विशेष बातचीत में कहा की बड़खल की जो हालत है वो 4 दिन की बारिश से नहीं बल्कि 40 साल से यहाँ राजनीती कर रहे नेताओ की बदौलत हुयी है. जलभराव पर सभी छुटभैये नेता पूरी राजनीती कर रहे है लेकिन कोई इस समस्या का समाधान नही सुझाता।खबरों के साथ साथ कारण, कारक और सुझाव भी जनता को बताने चाहिये। जिन्होंने पहाड़ बेचकर उनके  गड्ढे भी बेच दिए बेचारी गरीब जनता को जिन्होंने बिना सोचे समझे इन गड्डो में अपने घर बना लिए तो बारिश के जलभराव का सामना भी ज्यादा इन्हें करना पड़ेगा। यहाँ की समस्याएं एव उलझने मुझे विरासत में मिली है लेकिन मैं इन्हें सुलझाकर ही रहूंगी।
पहले मेवला अब बड़खल विधानसभा क्षेत्र का अपने गुर्गों द्वारा पूरी तरह दोहन, शोषण एवं कब्जे करवाये वही इसके जिम्मेवार है.मुख्य संसदीय सचिव सीमा त्रिखा उस जनता से अपील करते हुये कहा की आप घर बनाने के लिए गड्ढो वाली जमीन ना खरीदें ना ऐसी जगह अपना आशियाना बनाये जहाँ जरा से बारिश होते ही डूबने का खतरा हो जाये।श्रीमती सीमा त्रिखा ने कहा कि मेरे पति, मेरे देवर या मेरे किसी रिस्तेदार ने कभी मेरे नाम पर कोई राजनीती नहीं की मेरा प्रयास बड़खल विधान सभा क्षेत्र का समुचित विकास कराना है टाइम पास करना नहीं है. क्षेत्र की जनता ने जो विश्वास मुझमे दिखाया उस विश्वास को डगमगाने नहीं दूँगी। मन की उलझने बहुत है सुलझायूँगी सभी को ये मेरा संकल्प है. बड़खल विस विकसित होकर रहेगा इसका मुझे पूरा विश्वाश है.

loading...
SHARE THIS

0 comments: