Monday, August 8, 2016

नौसेनाध्‍यक्ष एडमिरल सुनील लांबा इंडोनेशिया की यात्रा करेंगे


नौसेनाध्‍यक्ष एडमिरल सुनील लांबा, पीवीएसएम, एवीएसएम, एडीसी 9 से 13 अगस्‍त, 2016 को इंडोनेशिया की आधिकारिक यात्रा करेंगे। इस यात्रा का उद्देश्‍य के इंडोनेशिया के साथ मौजूदा समुद्री सहयोग पहलों को और मजबूत करने के साथ ही भारत की 'एक्ट ईस्ट पॉलिसी' के अनुसार नए आयामों का अन्‍वेषण करना है । इस यात्रा के दौरान, एडमिरल एस. लांबा इंडोनेशिया के रक्षा मंत्री, रक्षा बलों के प्रमुख, इंडोनेशिया के नौसेनाध्‍यक्ष के अलावा अन्य वरिष्ठ गणमान्य व्यक्तियों और नौसेना के अधिकारियों के साथ विचार- विमर्श करेंगे। 

भारत और इंडोनेशिया के बीच सदियों पुराने ऐतिहासिक संबंध हैं। वर्तमान में, भारत और इंडोनेशिया गुट निरपेक्ष आंदोलन के सह-संस्थापकों के अलावा, एआरएफ, एडीएमएम+, जी-20, विश्व व्यापार संगठन जैसे बहुपक्षीय मंचों में पारस्परिक रूप से लाभप्रद सहयोग रखते हैं। भारत और इंडोनेशिया के बीच नियमित रूप से जहाजों के आवागमन, वायु और सैन्य प्रतिनिधिमंडल के दौरे, प्रशिक्षण के आदान-प्रदान आदि के माध्यम से रक्षा सहयोग काफी मजबूत हैं। दोनों देश 2001 में रक्षा सहयोग समझौते पर हस्ताक्षर कर चुके हैं। इंडोनेशिया के आसपास के समुद्री क्षेत्र में खोज और बचाव के अलावा विशेष आर्थिक क्षेत्र हैं। ये लंबे समुद्र तट व्‍यापक समुद्री चुनौतियों का हिस्सा भी हैं जिसमें दोनों देशों की नौसेनाओं को ईईजेड, तटीय सुरक्षा, व्‍यापक तटीय शिपिंग और मछली पकड़ने के बेड़े के मामलें में एक दूसरे के अनुभवों से सीखने का अवसर भी है। इसके अलावा, दोनों देशों की नौसेनाओं के लिए बहुत से समान मुद्दों पर जमीनी सहयोग को और बढ़ाया जा सकता है।

आईओएनएस साझा समुद्री सीमा के साथ, भारत और इंडोनेशिया की नौसेनाओं के बीच समुद्री सहयोग को दृढ़ किया जाना द्विपक्षीय रक्षा सहयोग के मजबूत स्तंभों में से एक है। भारतीय नौसेना के 2008 में समुद्री सहयोग को बढ़ाने के प्रयासों के अंतर्गत भारतीय नौसेना और इंडोनेशिया की नौसेना हिंद महासागर नौसैनिक संगोष्ठी (आईओएनएस) में भागीदार हैं। दोनों देशों ने 2002 से अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा (आईएमबीएल) पर समन्वित गश्त का आयोजन किया है और अब तक समन्वित गश्त के 27 संस्करणों को पूरा कर चुके हैं। दोनों देशों ने अक्टूबर, 2015 में प्रथम द्विपक्षीय समुद्री अभ्यास का भी आयोजन किया था। दोनों देशों के युद्धपोत नियमित रूप से एक दूसरे के बंदरगाहों की यात्रा करते हैं।

स्टाफ वार्ता और आईएफआर 2016 दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच नौसेना के स्‍तर पर 2007 में वार्ताएं प्रारंभ हुई थी। स्टाफ वार्ता का 8वां दौर 2017 में होना है। इंडोनेशिया की नौसेना विशाखापत्तनम में आयोजित की गई अंतर्राष्ट्रीय बेड़े की समीक्षा 2016 में भागीदारी की पुष्टि करने वाले देशों में प्रथम थी और उसने इस समीक्षा में एक पोत के साथ में भाग लिया। इस समीक्षा में इंडोनेशिया की नौसेना के एडमिरल अदे सुपान्‍दी ने भी भाग लिया और नौसेनाध्‍यक्ष के साथ द्विपक्षीय विचार-विमर्श किया। भारतीय नौसेना ने भी अप्रैल, 2016 में इंडोनेशियाई नौसेना द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय बेड़े की समीक्षा और इंडोनेशियाई नौसेना द्वारा आयोजित बहुपक्षीय अभ्‍यास कोमोडो (एमएनईके) में भाग लिया ।

आईएनए में एडमिरल कप इंडोनिशिया की नौसेना ने प्रथम बार भारतीय नौसेना द्वारा भारतीय नौसेना अकादमी, एझिमाला, में 03 से 13 दिसम्‍बर, 2015 को आयोजित एडमिरल कप सेलिंग रेगाटा में भाग लिया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: