Thursday, August 25, 2016

जनमाष्टमी पर मथुरा के मुसलमानो द्वारा बनाई 24 फ़ीट की मटकी होगी आकर्षण का केंद्र!



फरीदाबाद-अगस्त 25,2016(abtaknews.com) एनआईटी-1 नंबर स्थित सिद्धपीठ हनुमान में जन्माष्टमी को लेकर ज़ोरदार तैयारियां की जा रही है ख़ास बात यह है की संस्थान द्वारा इस बार 24 फ़ीट की मटकी मथुरा से बुलाये गये मुस्लिम कारीगरों द्वारा तैयार करवाई गयी है. आयोजको का दावा है की यह अब तक की सबसे बड़ी मटकी होगी जिसे क्रेन द्वारा मंदिर के बाहर मुख्य द्वार पर लटकाया जाएगा. इसके अलावा इस विशालकाय मटकी के अगल बगल छहः - छहः फ़ीट की चार और मटकियां भी लगायी जाएंगी. जो की इस बार कृष्णजन्माष्टमी पर मुख्य आकर्षण का केंद्र रहेंगी. आयोजको का यहाँ तक भी दावा है की इतनी बड़ी मटकी आज तक मथुरा - वृन्दावन में भी नहीं बनायी गयी.

मंदिर के प्रांगण में रखी गई 24 फ़ीट की यह वही विशालकाय मटकी जिसे खासतौर पर मथुरा से आये मुस्लिम कारीगरों ने जन्माष्टमी के त्यौहार को लेकर तैयार किया है. इसके अलावा छहः फ़ीट की चार अन्य मटकियां भी तैयार की गयी है जो इस विशालकाय मटकी के अगल - बगल टांगी जाएंगी. आयोजको के अनुसार यह विशालकाय मटकी मंदिर के मुख्य द्वारा पर बाहर रोड पर क्रेन की मदद से स्थापित की जायेगी. उन्होंने दावा किया की जन्माष्टमी के त्यौहार पर यह अब तक की सबसे बड़ी मटकी होगी जो लोगो के आकर्षण का केंद्र बनेगी. मंदिर के प्रधान ने बताया की इस मटकी को बनाने के लिए मथुरा के मुस्लिम कारीगरों को विशेष रूप से यहाँ बुलाया गया था ताकि आपसी भाई चारे का सन्देश भी दिया जा सके. उन्होंने बताया की इसके अलावा करीब आधा दर्जन अन्य झांकियां भी प्रस्तुत की जाएंगी जिन्हें मुस्लिम कारीगरों ने तैयार किया है.
बाइट - राजेश भाटिया - प्रधान - सिद्धपीठ हनुमान मंदिर

मथुरा से आये मुस्लिम कारीगर स्वराज अहमद ने बताया की यह उनका पुश्तैनी धंधा है और बरसो से उनका पूरा परिवार हिन्दू त्योहारों पर काम करता आया है. उन्होंने बताया की इस 24 फ़ीट की मटकी को बनाने के लिए छहः कारीगरों ने 25 दिन की कड़ी मेहनत से इसे तैयार किया है. उन्होंने बताया की हिन्दू धर्म के प्रति वह हमेशा सम्मान रखते आये है और उनका पूरा परिवार इस धंधे में लगा हुआ है उन्होंने बताया की जब कोई उनकी कला की तारीफ करता है तो उन्हें बहुत अच्छा लगता है.


loading...
SHARE THIS

0 comments: