Wednesday, July 27, 2016

हरियाणा में वन स्टॉप सेंटर स्थापित, मिलेगी हिंसा पीडि़तो को मदद



चंडीगढ़, 27 जुलाई,2016(abtaknews.com ) हरियाणा में छ: और वन स्टॉप सेंटर स्थापित करने के लिए केन्द्र सरकार ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। यह स्टॉप सेंटर प्रदेश के गुडग़ांव, फरीदाबाद, हिसार, भिवानी, नारनौल और रेवाड़ी में कार्यक्रम के दूसरे चरण में खोले जाएंगे। इन सेंटरों में  किसी भी प्रकार की हिंसा से पीडि़त महिलाओं को सहायता व सहयोग मुहैया करवाया जाएगा। यह जानकारी आज यहां मुख्य सचिव श्री डी एस ढेसी की अध्यक्षता मेंं आयोजित वन स्टॉप सेंटर के संचालन समीक्षा बैठक में दी गई।
बैठक में बताया गया कि वर्तमान में वन स्टॉप सेंटर करनाल में महिला आश्रम के परिसरों में संचालित किया जा रहा है। यह सेंटर किसी भी प्रकार की हिंसा जैसेकि यौन उत्पीडऩ, घरेलू हिंसा, मानव तस्करी, सम्मान सम्बन्धित अपराध, एसिड अटैक या उनकी आयु, वर्ग, जाति, शैक्षणिक स्तर, वैवाहिक स्तर, रंगभेद या संस्कृति से सम्बन्धित गाली देना  की वजह से  पीडि़त महिला को विशेष सेवाएं दी जाती हैं। बैठक में बताया गया कि 31 मई, 2016 तक वन स्टॉप सेंटर में 153 मामले प्राप्त हुए हैं, जिनमें 60 मामले घरेलू हिंसा, 21 मामले लापता और अपहरण, 5 मामले मानव तस्करी, 3 मामले बलात्कार, एक मामला बाल शोषण, 35 मामले बच्चों से सम्बन्धित तथा 26 मामले अन्य अपराधों से सम्बन्धित शामिल हैं।
महिला एवं बाल विकास विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि केन्द्र सरकार ने महिलाओं की मदद के लिए एक ही नम्बर योजना को स्वीकृति प्रदान कर दी है, जो केन्द्र द्वारा शतप्रतिशत प्रायोजित होगी और पूरे हरियाणा में इसका शोर्ट कोड 181 है। उन्होंने बताया कि यह हैल्पलाइन विशेषतौर पर महिलाओं की मदद के लिए तैयार की गई है, जब वह परिवार, समुदाय और कार्यस्थलों के साथ-साथ, निजी व सार्वजनिक स्थानों पर हिंसा और हिंसा की धमकी से जूझ रही होती हैं।

loading...
SHARE THIS

0 comments: