Friday, July 29, 2016

इन्द्रा कालोनी निवासियों ने दिया पुलिस आयुक्त डॉ कुरैशी को ज्ञापन




फरीदाबाद -जुलाई 29,2016(abtaknews.com)साजिश के तहत युवक की हत्या कर उसे नहर में फैकने वालों के खिलाफ सख्त कारवाई की मांग को लेकर आज इन्द्रा कालोनी के सैकडो लोग सामाजिक न्याय एवं अधिकार समिति के चेयरमेन दीनदयाल गौतम के साथ पुलिस आयुक्त कार्यालय सेक्टर-21सी पहुंचे। पुलिस आयुक्त की गैरमौजूदगी में लोगों ने एक ज्ञापन संयुक्त पुलिस आयुक्त जगदीश चन्द्र नागर को सौपा जिसमें मांग की गई कि पुलिस थाना सेक्टर-7 में मुकद्मा न.355 दिनांक 30-5-2016 दफा 346 के आरोपियों पर हत्या का मुकद्मा दर्ज कर शव व बाईक बरामद की जाए ताकि पूरा मामला उजागर हो सके। संयुक्त पुलिस आयुक्त को पीडि़त इमामी खान ने बताया कि वह इन्द्रा कालोनी की रहने वाला है और पेश्ेा से डाईवरी का काम करता है और उसके 3 बच्चे है जिसमें से बड़ा लडक़ा शहीद खान विवाहित है था और 2 बच्चों का पिता था वह भी डाइवरी करता था। 
दिनांक 26-5-2016 को संाय 7:30 बजे मेरा पुत्र अपनी बाईक नम्बर एच.आर-51एएफ 1567 से किसी काम से गया था और उसके बाद वापिस नहीं लौटा। हमने अपने स्तर पर पूरी खोजबीन की परन्तु कई दिन तलाशने के बाद भी शहीद खान व बाईक का कहीं अता पता नहीं चला। इसके पश्चात हमने सेक्टर-7 पुलिस चौकी में इस बारे शिकायत दी जिस पर दिनांक 30-5-2016 को मुकदमा न. 355 दफा 346 दर्ज हुआ। मैं बार बार पुलिस चौकी थाना में आता जाता रहा। अप्रैल 2016 को मेरे पुत्र शहीद खान को पवन निवासी इन्द्रा कालोनी व पवन का दोस्त सतेन्द्र निवासी रसलूपुर जिला अलीगढ़,शहीद को उसकी बाईक पर जट्टारी के पास किसी अज्ञात स्थान पर ले गए थे जहां पर शहीद को तमंचा दिखाकर गिरोह के मुखिया ने 3 दिन अपनी चंगुल में रखा था उस समय किसी तरह बचकर में सभी वापिस आए थे। दिनांक 28-7-2016 को मुझे सीआईए ऊंचा गांव से पुलिसकर्मी हरिओम का फोन आया व मुझे वहंा बुलाया। में अपने कुछ लोगों के साथ सीआईए ऊंचा गांव पुहंचा जहां पर उन्होनें बताया कि सतेन्द्र  पवन  और इसके अन्य साथियों ने शहीद को मारकर शव खुर्द-बुर्द कर किठवाड़ी पल आगरा नहर में फैंक दिया है। हमने सतेन्द्र व पवन को हिरासत में ले लिया है तथा जल्दी ही शहीद व उसकी बाईक को तलाश लिया जाएगा क्योकि शहीद को मारने में बड़ी साजिश हुई है। पीडि़त ने कहा कि उन्हें न्याय दिलाया जाए और हत्यारों के खिलाफ जांच पड़ताल कर सख्त से सख्त कारवाई की जाए और दो महीने तक लापरवाही करने वाले दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ भी कानूनी व विभागीय कारवाई की जाए। संयुक्त पुलिस आयुक्त ने लोगों की बात ध्यान से सुनने के बाद उन्हें आश्वासन दिया कि उन्हें जल्दी न्याय मिले।

इसमौके पर हचिन्द,चन्दू बाबू ,मुबिन,सुबी,मुशंी,फज्जर,जबलू,बसीर,हप्पू,कमरू,होलू,रहीस,अस्सो,आमीन,चांद,,किशनपाल,ललिता,सन्नो,मीना,अमिना,रकीकब,जरीना,सोना,शाहिद,रूबी,सलमा,निसारा व लच्छो मौजूद थे।     



loading...
SHARE THIS

0 comments: