Wednesday, July 20, 2016

हरी मेहंदी के पत्तों और पाउडर की बिक्री पर वैट से छूट:-मनोहर लाल




चंडीगढ़, 20 जुलाई,2016  हरियाणा में पारंपरिक मेहंदी उद्योग को पड़ौसी राज्यों के बराबर लाने के लिए आज सरकार ने हरी मेहंदी के पत्तों और उसके पाउडर की बिक्री पर वैट से छूट प्रदान की है। इस आशय का निर्णय मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में आज यहां हुई मंत्रिमंडल की बैठक में गया। वर्तमान में, हरियाणा में पारंपरिक हिना (मेहंदी) पर वैट की दर 5 प्रतिशत है। पड़ौसी राज्य उत्तर प्रदेश, राजस्थान और पंजाब में पारंपरिक मेहंदी की बिक्री पर वैट नहीं लगाया गया है। वैट में छूट दिए जाने से राज्य का पारंपरिक मेहंदी उद्योग पड़ौसी राज्यों के डिलरों से  स्तरीय प्रतिस्पर्धा कर सकेगा। हरियाणा में जिला फरीदाबाद मेहंदी का मुख्य व्यापार केन्द्र है।
इस छूट से सरकारी खजाने को लगभग 50 लाख रुपये का घाटा होगा। बहरहाल, राज्य में ‘काली मेहंदी’ और ‘हर्बल मेहंदी’ पर 12.5 प्रतिशत की कर दर जारी रहेगी। 
सरकार ने शहरी परिवहन प्रणाली से संबंधित मामलों के लिए शहरी स्थानीय निकाय विभाग को नोडल विभाग नामित करने का निर्णय भी लिया है।यह पाया गया कि प्रभावी एवं टिकाऊ शहरी आयोजना के लिए भूमि उपयोग और शहरी परिवहन प्रणाली को समेकित करना अत्यंत आवश्यक है और यह शहरी परिवहन एवं  भूमि उपयोग आयोजना दोनों कार्य एक ही विभाग के तत्वावधान के तहत किए जाने से ही संभव हो सकता है। इसके अतिरिक्त, केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने भी राज्य सरकार से शहरी परिवहन से संबंधित मामलों के लिए एक विभाग नामित करने का आग्रह किया है। 
सरकार ने हरियाणा राज्य विधानसभा (अयोग्यता की रोकथाम) अधिनियम, 1974 में राजकीय मुख्य सचेतक तथा नेता प्रतिपक्ष के कार्यालयों को जोडऩे के लिए इसमें संशोधन करने का निर्णय लिया है। इसके अतिरिक्त, सरकार ने हिसार में 50 एकड़ भूमि पर गौ-अभ्यारण्य एवं पशु बाड़ा स्थापित करने का निर्णय भी  लिया है। बैठक में राजकीय पशुधन फार्म, हिसार की 50 एकड़ भूमि गौ-अभ्यारण्य एवं पशु बाड़ा स्थापित करने के लिए नगर निगम, हिसार को देने का निर्णय लिया गया। यह भूमि एक रुपये प्रति एकड़ प्रति वर्ष की दर से 33 वर्षों के लिए पट्टे पर दी जाएगी।

loading...
SHARE THIS

0 comments: