Thursday, July 21, 2016

बीएसपी कार्यकर्ताओं ने सिर मुंडवाया,बहनजी के लिये सिर भी कटवा देंगे

बीएसपी कार्यकर्ताओं ने सिर मुंडवाया,बहनजी के लिये सिर भी कटवा देंगे 



फरीदाबाद -wvजुलाई U(दुष्यंत त्यागी )   बीएसपी सुप्रीमो मायावती को गाली देने वाले नेता दयाशंकर सिंह का देश के अलग-अलग शहरों में विरोध हो रहा है। उसी कडी में आज फरीदाबाद के लघुसचिवालय पर बीएसपी के कार्यकर्ताओं द्वारा दयाशंकर के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया गया और उनके विरोध में बीएसपी के 11 कार्यकर्ताओं ने सिर मुडवाकर दयाशंकर  का विरोध किया और कहा कि बीएसपी कार्यकर्ता बहनजी के लिये सिर मुडवा ही नहीं, सिर कटवा भी सकते हैं।
भाजपा पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह द्वारा बीएसपी सुप्रीमो मायावती को गाली दी गई थी और टिकट की खरीद फरोख्त का आरोप लगाया थाा, जिसके लिये वो मायावती से माफी भी मांग चुके हैं इतना ही  नहीं भाजपा पार्टी द्वारा कार्यवाही करते हुए दयाशंकर सिहं के सारे पद भी छीन लिये गये है, मगर बीएसपी के कार्यकर्ता बहनजी के अपमान से कुछ ज्यादा ही त्रस्त नजर आ रहे हैं, जिसको लेकर देश के अलग अलग शहरों में दयाशंकर के खिलाफ प्रदर्शन किया जा रहे हैं। उसी कडी में फरीदाबाद के लघुसचिवालय पर बीएसपी के सैंकडों कार्यकर्ताओं द्वारा आज जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया। इतना ही नहीं कार्यकर्ता बहनजी के अपमान से इतने गुस्साये हुए थे कि दयाशंकर के फोटो पर जमकर लात से प्रहार किया और उनके विरोध में बीएसपी के 11 कार्यकर्ताओं ने अपना सिर मुडवा कर गहरा शोक जताया है। 
मुडन करवाने वाले बीएसपी कार्यकर्ता सुरेन्द्र करदम की माने तो उन्होंने आज दयाश्ंाकर के शोक में अपना मुंडन करवाया है, उनका आरोप है कि दयाशंकर ने बहनजी को गाली दी है उनका अपमान किया है जो बीएसपी के कार्यकर्ता बिल्कुल भी सहन नहीं करेंगे। आज तो उन्होंने बहनजी के लिये सिर्फ सिर मुडवाया है अगर जरूरत पडी तो वो बहनजी के लिये अपनी गर्दन भी कटवा देंगे।
बीजेपी से छह साल के लिए एक्सपेल किए जा चुके दयाशंकर के खिलाफ बुधवार देर रात लखनऊ में एफआईआर दर्ज हुई। पुलिस की टीम भी उन्हें अरेस्ट करने के लिए निकल चुकी है। दयाशंकर जल्द सरेंडर कर सकते हैं। इस बीच, गुरुवार सुबह हजरतगंज में अंबेडकर की मूर्ति के सामने प्रदर्शन शुरू हो गया। बीएसपी वर्कर्स मंच से सिंह को भद्दी गालियां देते हुए सुने गए। इन वर्कर्स के हाथ में जो बैनर थे उनपर माया के सपोर्ट में नारे लिखे होने के साथ दयाशंकर, उनकी बहन और बेटी के बारे में आपत्तिजनक बातें भी लिखी थीं। 
दिल्ली में भी बड़ा प्रदर्शन...दयाशंकर की गिफ्तारी के लिए पुलिस की अलग-अलग टीमों ने उनके लखनऊ और बलिया के घर और ठिकानों पर दबिश दी। लेकिन वो नहीं मिले। दिल्ली के जंतर-मंतर पर भी बीएसपी वर्कर्स दयाशंकर के बयान के विरोध में प्रदर्शन किया। भोपाल में भी बीएसपी एमएलए शीला त्यागी ने मध्यप्रदेश विधानसभा के बाहर प्रदर्शन किया। चंडीगढ़ बीएसपी की चीफ जन्नत जहां ने दयाशंकर की जीभ काटने वाले को 50 लाख रुपए इनाम देने का एलान किया।
पुतला जलाते समय एक झुलसा--लखनऊ में बीएसपी के प्रदर्शन को देखते हुए राजभवन जाने वाली सडक़ बंद कर दी गई। परिवर्तन चौक से गंज की तरफ से आने वाली सडक़ को भी ब्लॉक कर दिया गया। प्रदर्शन के दौरान दयाशंकर का पुतला फूंकते समय एक बीएसपी वर्कर की शर्ट में आग लग गई। इससे वो झुलस गया। डीएम-एसएसपी के समझाने पर बीएसपी नेता नसीमुद्दीन ने प्रदर्शन वापसी की घोषणा करते हुए प्रशासन को अभी से 36 घंटे का समय दिया। उन्होंने कहा कि अगर इस समय सीमा में गिरफ्तारी नहीं हुई तो वे बसपा फिर से प्रदर्शन करेगी।
दयाशंकर पर दर्ज हुई एफआईआर-- इसके पहले बुधवार रात में बीएसपी सचिव मेवालाल गौतम ने हजरतगंज कोतवाली में दयाशंकर के बयान की सीडी और तहरीर दी। इसके बाद दयाशंकर के खिलाफ आईपीसी की धारा 153ए, 504, 509 और एससी/एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। इस दौरान बीएसपी महासचिव नसीमुद्दीन और बड़ी संख्या में पार्टी वर्कर मौजूद थे।
दयाशंकर के घर की सिक्युरिटी बढ़ी- पुलिस ने बीजेपी नेता दयाशंकर के घर के ऑफिसर्स कॉलोनी स्थित आवास की सिक्युरिटी बढ़ा दी है। वहां दो पुलिसवालों को तैनात कर दिया है। साथ ही, बीजेपी ऑफिस पर भी एक्स्ट्रा पुलिस लगाई गई है।
बीजेपी नेता ने जताया खेद--बीजेपी नेता दयाशंकर सिंह ने मायावती पर अपशब्द मामले में सफाई दी। उन्होंने कहा, मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा था। मैंने तो केवल ये कहा था कि आर.के. चौधरी, स्वामी प्रसाद मौर्या और जुगल किशोर का ये आरोप है कि बहन जी पैसा लेकर टिकट बेचती हैं। मैंने कहा चरित्र का संकट है। अगर मेरी बात से कोई आहत है तो मैं इसके लिए खेद प्रकट करता हूं।
क्या है पूरा मामला--दयाशंकर सिंह बीजेपी यूपी अध्यक्ष केशव मौर्या की कमेटी में उपाध्यक्ष थे। वह मऊ में एक कार्यक्रम में गए थे। उन्होंने आरोप लगाया कि मायावती एक बड़ी लीडर हैं और तीन बार सीएम रह चुकी हैं। मायावती किसी को 1 करोड़ रुपए में टिकट देती हैं। अगर कोई एक घंटे बाद ही 2 करोड़ देता है तो उसको टिकट दे देती हैं और शाम को अगर कोई 3 करोड़ देने वाला मिलता है तो उसे दे देती हैं।


loading...
SHARE THIS

0 comments: