Monday, July 25, 2016

फरीदाबाद में नेताजी का मजबूत विकल्प बनकर उभरे है मंत्रीजी !





नई दिल्ली-जुलाई 25,2016(abtaknews.com) कहते है किसी के बिना ये दुनिया रूकती नहीं है क्योंकि समय निरंतर चलायमान होता है. प्रकृति का नियम भी यही है जो आज है वो कल नहीं होगा। आज का हीरो कल का जीरो हो जाये तो चौंकिए मत? हम बात करते है फरीदाबाद राजनीती की या यूं कहें कि भारतीय जनता पार्टी की यहाँ से तीन बार सांसद बनने वाला आज गुमनामी की जिंदगी जी रहा है.स्वं को स्वम्भू जाति विशेष का इमाम कहने वाला आज अपने वजूद के लिए संघर्ष कर रहा है. अब बात करते है आज के नेता जी कि जिसपर आएदिन अवैध निर्माण, अवैध वसूली और एक जाति विशेष के लिए की कार्य करने का आरोप जनता आयेदिन लगाती रहती है. जाति विशेष इतना की टिकट भी उसी बिरादरी को, काम भी उसी बिरादरी के  करना और सरकार में हर तरह की भागीदारी और मनोनीत होने वाले पदों पर भी इसी जाति की पुरजोर वकालत करना नेता जी की दिनचर्या में शामिल है. अपने ही चेले की बढ़ती लोकप्रियता से उखड़े हुए उंक्त नेता जी की दुश्मनी पूरे शहर में चर्चित हुई. लेकिन वही चेला आज उन्ही का तेजी से एक  मजबूत विकल्प बनकर उभर रहा है. आने वाले समय में फरीदाबाद का एक लोकप्रिय एवं सशक्त राजनितिक व्यक्तित्व बने तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।
कहते है जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए अच्छे कर्मों का होना जरूरी है वर्ना गलत रास्ते से आगे बढ़ने में कुछ समय की लिए भले ही कामयाबी मिल जाये लेकिन उससे भी तेज गति से पतन होना निश्चित है। ऐसा ही कुछ नेता जी के लिए आने वाले समय में होना है ! जनता, पार्टी के छुटभय्ये नेता और बड़े बड़े नेता उनकी करतूतों की लम्बी चौड़ी लिस्ट बनाकर बैठे है. ऐसा नहीं है की पार्टी हाई कमान को कुछ पता नहीं है एक एक रिपोर्ट ऊपर है. केंद्र के इसबार हुए विस्तार में संघियो ने ये कहकर जान बचा ली की हमारे लिए सरकार में कोई और प्रतिनिधि नहीं है लेकिन इसका रास्ता बना दिया खट्टर सरकार ने फरीदाबाद के विधायक को मंत्री बनाकर। केंद्र सरकार के अंतिम विस्तार में जो उत्तर प्रदेश चुनाव के बाद होगा उसमे इनकी विदाई तय है. क्योकि अमित शाह की  टीम और मोदी की टीम ने उंक्त नेताजी को परफॉरमेंस में जीरो नंबर दिए है. बचाव सिर्फ और सिर्फ संघ ने किया था ये कहते हुए कि जैसा भी है वो तो ठीक है लेकिन हमें सरकार में कोई प्रतिनिधि नहीं मिलेगा।
संघ की इस दुविधा को खट्टर सरकार ने दूर कर दिया सरकार में यहाँ से एक मजबूत प्रतिनिधि देकर। आने वाले समय में यही प्रतिनिधि कही नेताजी का मजबूत विकल्प ना बन जाये। क्योंकि राजनीती में कुछ भी संभव है.?  ----------------------  कल पढ़िए  '' गुरु गुड़ तो चेला चीनी ना बन जाये कही?''


loading...
SHARE THIS

0 comments: