Monday, July 25, 2016

जम्मू-कश्मीर और दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाए केन्द्र सरकार :- अम्बावता



फरीदाबाद-25जुलाई,2016(अबतक न्यूज़ ) भारतीय किसान यूनियन (अ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ऋषिपाल अम्बावता ने भारत में अमन चैन के लिए जम्मू-कश्मीर और दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करते हुए कहा दोनों ही राज्यों के मुख्यमंत्री सरकार चलाने में सक्षम नहीं हैं। उपरोक्त दोनों राज्यों में क्रमश: जब से महबूबा मुफ्ती और अरविन्द केजरीवाल मुख्यमंत्री बने हैं राज्यों की जनता का अमन चैन खत्म हो गया है। भाकियू अध्यक्ष अम्बावता ने कहा केजरीवाल जनता के पैसे को विज्ञापन में पानी की तरह बहा रहे हैं। जब से वह मुख्यमंत्री बने हैं दिल्ली 20 साल पीछे हो गई है। विकास के नाम पर सरकार का रिपोर्ट कार्ड जीरो है, जबकि आप के सभी विधायक क्रिमीनल मांईड हैं, आय दिन दिल्ली के विधायक और मंत्री विभिन्न प्रकार के अपराधों में फंस रहे हैं। उन्होने कहा दिल्ली के मुख्यमंत्री सिर्फ झूठे वायदे करते हैं। उन्होने दिल्ली के किसानों को 3 करोड़ मुआवजा देने का ऐलान किया था, मगर अब कहते हैं दिल्ली के किसान पंजाब में उनकी पार्टी का प्रचार करें। अम्बावता ने कहा दिल्ली के किसानों ने तय किया है कि वह जल्द केजरीवाल के घर का घेराव करेंगे और सीएम को नजरबंद करेंगे। उन्होने कहा आप के नेता और विधायक अपने मुख्य मुद्दों से भटक गए हैं और केवल सत्ता हत्याना चाहते हैं। उन्होने कहा दिल्ली का विकास पूर्व की कांग्रेस सरकार ने किया था और जब से केजरीवाल सीएम बने हैं दिल्ली के हालात बद्तर हो गए हैं। इसलिए केन्द्र सरकार दिल्ली सरकार को बर्खास्त करे। किसान नेता ने कहा इसी प्रकार जम्मू-कश्मीर से भाजपा अपना समर्थन वापिस लेकर राष्ट्रपति शासन लगवाकर सेना के हाथ में सुरक्षा दे।
अम्बावता ने केन्द्र सरकार और सभी राज्यों की सरकारों को किसान विरोधी बताते हुए कहा देश में किसानों की हालत दयनीय है। सरकार चुनाव में किसानों से वायदे करती है, मगर बाद में अपने हाल पर छोड देती है। उन्होने कहा पंजाब और यूपी विधानसभा चुनाव में भारतीय किसान यूनियन (अ) उसी पार्टी का समर्थन करेगी जो किसानों की पांच मांगे मानेगी। विभिन्न मांगागें को बारे मेंं बताते हुए उन्होने कहा देश का किसान कर्ज मुक्त हो और दस लाख का तक बैंक बिना ब्याज के लोन दे। स्वामी नाथन आयोग रिपोर्ट लागू हो और किसान आयोग का गठन हो। देश में वृद्धा पेशन समान रूप से 2 हजार हो। आत्म हत्या करने वाले किसान को दस लाख मुआवजा और परिवार को सरकारी नौकरी मिले। जमीन अधिग्रण करने के बाद मुआवजा व प्लाट तुरंत मिले और सैनिक परिवारों को आर्थिक आधार पर आरक्षण दिया जाए।
ऋषिपाल अम्बावता ने कहा भाकियू ने नोयडा के गांव मुरसतपुर में किसान सभा में फैसला लिया कि अब भाकियू के नेता हर रविवार देश के पांच गांवों में जाकर किसानों की समस्याओं को जानेगी और उनके समाधान के लिए काम करेंगे। इस संबंध में भाकियू ने कुछ नए पदाधिकारियों को भी शामिल किया गया है जिनमें यशराज शास्त्री को यूपी प्रदेश उपाध्यक्ष, प्रताप सिंह व गजराज सिंह को प्रदेश सचिव, जोगी पहलवान को पश्चिमी यूपी का प्रभारी नियुक्त किया है। इसी प्रकार साधुसिंह त्यागी घरोड़ा को फरीदाबाद जिला अध्यक्ष, भरतपाल ठाकुर को पलवल जिला अध्यक्ष, दयानन्द नागर को तिगांव विधानसभा अध्यक्ष नियुक्त किया। उन्होने कहा आगामी 14 अगस्त को असंध में विशाल किसान रैली का आयोजन होगा और इसी दिन से प्रदेश अध्यक्ष शमशेर दहिया के नेतृत्व में हरियाणा किसान चेतना यात्रा का शुभारंभ किया जाएगा


loading...
SHARE THIS

0 comments: