Saturday, July 23, 2016

वन लाईफ-रोड सेफ्टि एक अवेयरनेस कैंपेंन पर सेमीनार



फरीदाबाद-23 जुलाई,2016(abtaknews.com) जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फरीदाबाद का सराहनीय कदम। वन लाईफ-रोड सेफ्टि एक अवेयरनेस कैंपेन के  माध्यम से एक सेमीनार की शुरुआत।सात दिवसीय इस प्रोग्राम का आज पहला दिन है और इसका आयोजन जिला पुलिस मुख्यालय में किया गया। माननीय जिला व सत्र न्यायाधीश एवं  जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के चैयरमेन  इन्द्रजीत मेहता, पुलिस कमिश्नर फरीदाबाद डॉ. हनीफ कुरैशी ,माननीय सी.जे.एम./सेक्रेटरी-डालसा  समप्रीत कौर  सहित जिले के पुलिस ,प्रशासन,एनएचएआई, एनजीओ और प्राइवेट हॉस्पिटल के अधिकारिओ ने इस सेमिनार में भाग लिया और सडक़ पर कोई जिंदगी जाया न हो  इस पर अपने बिचार रखे. माननीय जिला व सत्र न्यायाधीश एवं  जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के चैयरमेन  इन्द्रजीत मेहता के इनीसिएटिव पर फरीदाबाद पुलिस एक्सीडेंट विक्टिम को हॉस्पिटल पहुंचाने वाले आम आदमी को सम्मानित करेंगी और प्रशस्ति पत्र भी देगी।
सेक्टर 21 सी स्थित पुलिस आयुक्त मुख्यालय के प्रेसकांफ्रेंस रूप में आयोजित सेमीनार में स्लाईडिंग के माध्यम से उपस्थित प्रतिभागियों को महत्वपूर्ण जानकारी दी गई। हम लोगो में मर्डर का  नाम सुनते ही सनसनी फ़ैल जाती है, पुलिस प्रशासन सहित न जाने किन किन लोगो को जिम्मेदार मानने लगते है लेकिन सडक़ दुर्घटना में किसी की मौत हो जाए तो एक साधारण से बात समझ कर नजर अंदाज कर देते है जबकि इसमे कही न कही हम लोग भी जिम्मेबार होते है जबकि मर्डर से लगभग तीन गुना ज्यादा मौते सडक़ दुर्घटनाओ में होती है अगर हम अपनी जिम्मेदारी समझे और एक जिम्मेदार सडक़ यूजर की तरह व्यवहार करे हो काफी हद तक सडक़ दुर्घटना में होने वाली  मौत  से बचा जा सकता है चाहे सडक़ टूटी या खऱाब ही क्यों न हो।  इन्ही सब बातो को ध्यान में रखते हुए न्यायपालिका ने खुद आगे बढ़ कर  वन लाईफ रोड़ सेफ्टि एक अवेयरनेस कैंपेन की शुरुआत है और आज पहले दिन  जिला पुलिस मुख्यालय में एक सेमिनार का आयोजन किया गया। माननीय जिला व सत्र न्यायाधीश एवं  जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के चैयरमेन  इन्द्रजीत मेहता ने बताया की बहुत से जीवन या अकस्मात् मृत्यु को हम सतत प्रयासों से बचा सकते है इसमें पुलिस की भूमिका अधिक होती है इसीलिए हमने पुलिस कमिश्नर फरीदाबाद डॉ. हनीफ कुरैशी से ने इस सेमीनार के बारे में बताया कि सात दिन तक चलने वाले इस अभियान मे स्कूली बच्चों सहित सभी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लें जिससे अनमोल जिंदगी को बचाया जा सके.सडक़ दुर्घटनाओ  से बिचलित  माननीय जिला व सत्र न्यायाधीश एवं  जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के चैयरमेन  इन्द्रजीत मेहता के व्यक्तिगत विचार है कि सडक़ दुर्घटनाओ के जिम्मेदार लोगो से  इंसोरेंस राशि का 10त्न बसूल की जानी चाहिये  । यह उनके व्यक्तिगत विचार स्वागत योग्य है लेकिन कानून पार्लियामेंट या कम्पिटीटेंट औथोरियटी ही बना सकती है.

वही जिला पुलिस मुख्यालय में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण  द्वारा वन लाईफ-रोड सेफ्टि एक अवेयरनेस कैंपेन की शुरुआत  एक सेमीनार के  माध्यम से करने  पर  पुलिस कमिश्नर फरीदाबाद डॉ. हनीफ कुरैशी ने ख़ुशी जाहिर करते हुए माननीय चैयरमेन  और  माननीय  मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं  जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव माननीय  समप्रीत कौर जी का धन्यबाद किया और बताया की सडक़ सुरक्षा सभी के लिए बहुत जरुरी है इसीलिए उन्होंने सभी सम्बंधित विभागों और अस्पतालो के अधिकारिओ को आज आमंत्रित किया है सभी अपने विचार रखे और सुझाव दे जिससे सडक़ दुर्घटनाओ में कमी ला सके।  उन्होंने एक दुखद आंकड़ा भी बताया की फरीदाबाद में 16 जुलाई तक 33 मर्डर हुए है लेकिन इसी दौरान 104 मौते एक्सीडेंट से हुई कमोबेश पूरे  देश में यही स्थिति है इसीलिए इन्ही सब बातो पर बिचार  करने लिए सात दिवसीय वन लाईफ-रोड सेफ्टि एक अवेयरनेस कैंपेन की शुरुआत डालसा के  द्धारा की गयी है उन्होंने बताया की माननीय जिला व सत्र न्यायाधीश एवं  जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के चैयरमेन  इन्द्रजीत मेहता के इनीसिएटिव पर फरीदाबाद पुलिस एक्सीडेंट विक्टिम को हॉस्पिटल पहुंचाने वाले आम आदमी को सम्मानित करेंगी और प्रशस्ति पत्र भी देगी।इसलिये आम आदमी घबराए  एक्सीडेंट विक्टिम की सहायता के लिए आगे आये पुलिस उसे परेशान नहीं करेगी।
------------------


loading...
SHARE THIS

0 comments: