Sunday, July 24, 2016

होडल के गांव सौन्ध मे बागवानी विभाग का जिला स्तरीय सेमीनार



होडल(पलवल)24 जुलाई,2016(अबतक न्यूज़ )बाग लगाओ अभियान के तहत गांव सौन्ध मे बागवानी विभाग द्वारा जिला स्तरीय एक दिवसीय सेमीनार का आयोजन किया गया । इस अवसर पर मुख्य अतिथि मिशन निदेशक, हरियाणा राज्य बागवानी विकास एजैन्सी, पंचकुला डॉ. भगत सिंह सहरावत ने गांव सौन्ध में पौधा लगाकर इस अभियान का शुभारम्भ किया।
इस अवसर पर डॉ. सहरावत ने कहा कि जिला पलवल को बागवानी उत्कृृष्टा केन्द्र, होडल की सौगात प्रदान की गई है । इसके तहत राजकीय बाग एवं नर्सरी होडल पर बागवानी उत्कृष्टा केन्द्र की स्थापना की जाएगी। जिसमें क्षेत्र के किसान बागवानी से सम्बन्धित सभी प्रकार की नवीनतम तकनीकी जानकारी लें सकेंगें । उन्होने किसानों को अपने खेतों में बाग लगाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा  कि सब्जी लगाने के क्षेत्र को दोगुना करने का लक्ष्य पूरा करने के लिए विभाग द्वारा अनुदान पर सब्जी बीज उपलब्ध कराया जाएगा । उन्होने बताया कि वे बागवानी सम्बन्धित किसी भी प्रकार की समस्या के लिए जिला उद्यान अधिकारी पलवल से सम्पर्क करें ।
          जिला उद्यान अधिकारी डॉ. अशोक कुमार वर्मा ने विभाग द्वारा जिला पलवल में चलाई जा रही एम.आई.डी.एच.,आर.के.वी.वाई., एस.सी.एस.पी., जी.ए.पी., आई.एच.डी., एन.एम.एम.पी., सूक्ष्म सिचाई व अन्य स्कीमों के बारे में व किसानो को विभिन्न मदो के तहत प्रदान की जाने वाली अनुदान राशि बारे में जानकारी दी । इस अवसर पर समन्वयक कृषि विज्ञान केन्द्र मण्डकोला के डॉ. वी.के. शर्मा ने फल एवं सब्जियों में लगने वाले कीट, बिमारी आदि के बारे में जानकारी देते हुए उनके प्रबन्धन व रोकथाम के उपायों से किसानो को अवगत कराया ।
           इस अवसर पर  सेवानिवृत सब्जी विशेषज्ञ डा. एम.ए. खान ने  सब्जियों की खेती वैज्ञानिक तरीके से करने पर जोर देते हुए कहा कि हम परम्परागत तरीके अपनाकर अधिक पैदावार नही ले सकते इसलिए हमें अब वैज्ञानिक तरीके से सब्जियों की खेती करनी चाहिए । इसके लिए उन्होने उच्च कोटि के बीज अपनाते हुए संतुलित मात्रा मे खाद व उर्वरक व कीटनाशको के प्रयोग के बारे मे जानकारी दी। उन्होने कहा कि खादो का प्रयोग मिट्टी परिक्षण के आधार पर ही करें । ज्यादा खाद व कीटनाशकों के प्रयोग करने से जमीन की सेहत के साथ साथ मानव शरीर पर भी कुप्रभाव पड़ता है। अत: किसान भाईयों से अनुरोध है कि वे जैविक खेती करने पर अधिक घ्यान दें । 
उद्यान विकास अधिकारी डा. अब्दुल रज्जाक ने कहा कि किसान अपनी पैदावार स्वयं ही बेचकर अधिक मुनाफा कमाऐं क्योंकि किसानो को उनकी पैदावार का सही दाम नही मिल पाता।  उन्होने कहा कि किसान खेती-बाड़ी समूह मे करें इस पर उद्यान विभाग अनुदान दे रहा है । उद्यान विकास अधिकारी डा. खलील अहमद  ने सब्जियों   व फलों में सूक्ष्म सिंचाई अपनाकर ज्यादा पैदावार के साथ साथ 60 से 70 प्रतिशत पानी की बचत कर सकते है व फसल की पैदावार भी अधिक ले सकते है । 
           जिला बागवानी सलाहकार  डा. प्रवीन कुमार ने कहा कि आज किसान की जोत दिन-प्रतिदिन कम होती जा रही है इसलिए किसान पोली हाउस, नेट हाउस व लो टनल लगाकर गैर मौसमी सब्जी उगाने के साथ -साथ कम भूमि मे भी अधिक पैदावार ले सकते है । इसके साथ साथ उन्होने पोली हाउस, नेट हाउस व लो  टनल आदि लगाने वाले किसानो से इसका बीमा करवाने पर जोर देते हुए इसे अति आवश्यक बताया ताकि आंधी तूफान आदि द्वारा किसान को होने वाली क्षतिपूर्ति की भरपाई हो सके । सदस्य कार्यकारी समिति, हरियाणा राज्य बागवानी विकास ऐंजेंसी  कार्तिक जालान ने कोल्ड स्टोरेज द्वारा किसानो को होने वाले फायदे के बारे में विस्तृृत जानकारी दी । 
इसके अतिरिक्त श्री विजेन्द्र सिंह दलाल, श्री महेश शर्मा, अरूण कुमार जेलदार ,विजय कुमार सौरोत ने भी किसानो को बागवानी से सम्बन्धित अपने अनुभव बताये । इस जिला स्तरीय एक दिवसीय सेमीनार में गॉव सोंन्दहद ,लोहिना, कोट, बहीन, होडल , बढा, औरंगाबाद, हथीन, नांगल जाट, रामपुर खोर व अलावलपुर आदि गॉवो के सेैकडों किसानों ने भाग लिया ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: