Wednesday, July 20, 2016

एशलान चेयरमैन का प्रेस से शैक्षणिक संवाद





फरीदाबाद, 20 जुलाई,2016 एशलान इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी द्वारा कल रात्रि फरीदाबाद के सभी राष्ट्रीय पत्रों के ब्यूरो प्रभारी, संपादकगण  फोटोग्राफर के साथ शैक्षणिक महत्त्व के ज्वलंत प्रशनों अपने विचार आदान प्रदान करने हेतु होटलडिलाइट ग्रैंड में एक मिलन समारोह आयोजित किया गया | सभा का आरम्भ करते हुए, संस्थान के चेयरमैन  एक प्रतिष्ठित आध्यात्मिक व्यक्ति, श्री प्रभात अग्रवाल जी ने बताया की एशलान अब एक नॉन प्रॉफिटेबल संस्थान है जिसे “The Last Centre” नामक आध्यात्मिक संस्था के मार्गदर्शन में चलाया जा रहा है | यह संस्था अभूतपूर्व मानव सेवा का उदाहरण देते हुए उन सभी विद्यार्थियों को निशुल्क इंजीनियरिंग शिक्षा प्रदान करना चाहती है जिनके पास प्रतिभा तो है परन्तु साधनों काआभाव है | इस लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु संस्था ने कई शक्तिकरण छात्रवृति (Empowerment Scholarship) घोषित किये है | संस्थान की सबसे महत्वपूर्ण अभिलाषा ज़िला फरीदाबाद के सभी 84 गांवों, 35 म्युनिसिपल-वार्डो तथा देहली राज्यके सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में एक-एक मेघावी विद्यार्थी को निशुल्क शिक्षा प्रदान करना है | इसके अत्तिरिक्त सभी विद्यार्थियों को "मेरिट स्कालरशिप", "स्पेशल महिला स्कालरशिप "कॉर्पोरेट स्कालरशिपभी प्रदान किए जा रहे हैं | विचारों केआदान-प्रदान के दौरान पूछे गए एक प्रशन के उत्तर में श्री प्रभात अग्रवाल ने बताया की संस्थान में स्थापित ‘उद्द्यमिता विकास प्रकोष्ठ’ का प्रमुख उद्देश्य भावी इंजीनियरों में अपेक्षित उद्द्यमिता कौशलज्ञान और क्षमता प्रदान कर उन्हें निजी उद्योगस्थापित करने के लिए प्रेरित करना है ताकि वे रोज़गार मांगने वाले बनने की अपेक्षा रोज़गार प्रदान करने वाले बनें |
एक प्रशन के उत्तर मे श्री प्रभात ने एशलान द्वारा Active & Experiential Learning का भाव कई उदाहरण देकर समझाया | महान वैज्ञानिक न्यूटन से पूर्व भी गुरुत्वाकर्षण मौजूद थापरन्तु यह सिद्धांत प्रथम बार न्यूटन ने पेड़ से गिरे सेब केमाध्यम से अनुभव किया |
चेयरमैन श्री प्रभात ने बताया कि माननीय प्रधानमंत्री के स्वपनों को साकार करने हेतु संस्थान में ‘डिजिटल लिटरेसी अभियान’ का शुभारम्भ माननीय श्री एस.पी.बघेल एवं श्री विपुल गोयल के करकमलो द्वारा गत मास किया गया था | इस अभियानमें संस्थान द्वारा 250 ग्रामीण यौवकों को निशुल्क ट्रेनिंग प्रदान की गई | संस्थान शीघ्र ही "Skill India Initiative" के अन्तर्गत दूसरा ट्रेनिंग कैंप भी प्रारम्भ करने जा रहा है |
डीन (एडमिनिस्ट्रेशन) प्रोफेसर डी.के.चुघ ने माननीय  संवाददाताओं के साथ अपने संवाद में बताया कि एशलान इंस्टिट्यूट के विद्यार्थी लगातार प्रतिवर्ष महर्षि दयानन्द विश्वविद्यालय की परीक्षाओं में कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं | गत परीक्षा में,विश्वविद्यालय की मेरिट लिस्ट के पचास स्थानों में से चालीस स्थानों पर एशलान के 82 विद्यार्थियों ने विभिन स्थान अर्जित कर संस्थान का गौरव बढ़ाया है | नौ वर्ष के अल्पकाल में एशलान इंस्टिट्यूट नेशनल कैपिटल रीजन में स्थित तकनिकी संस्थानों में गौरवमय स्थान अर्जित कर चुका है |

loading...
SHARE THIS

0 comments: