Wednesday, July 27, 2016

फर्जी मान्यता वाले स्कूल संचालक जायेंगे जेल:-हरियाणा सरकार



चण्डीगढ़, 27 जुलाई,2016(abtaknews.com ) हरियाणा सरकार ने निजी स्कूलों में पढ़ रहे विद्यार्थियों के हितों को ध्यान में रखते हुए राज्य के निजी स्कूलों को 31 मार्च, 2017 तक एक वर्ष के लिए अस्थाई मान्यता प्रदान करने का निर्णय लिया है ताकि वे इस दौरान निर्धारित मानदंड पूरे कर सके। स्कूल शिक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा स्कूल शिक्षा(संशोधन)नियम, 2007 के प्रावधानों के तहत स्कूलों की स्थाई मान्यता के मामलों को अंतिम रूप देने के लिए संबंधित जिला उपायुक्तों की अध्यक्षता में गठित जिला स्तरीय कमेटियों द्वारा 933 निजी स्कूलों की स्थाई मान्यता के मामलों को रद्द कर दिया गया है और 1159 निजी स्कूलों की स्थाई मान्यता के मामले जिला स्तरीय कमेटियों  के पास लम्बित पड़े हैं। 
उन्होंने बताया कि  इन स्कूलों द्वारा चालू शैक्षणिक सत्र के लिए विद्यार्थियों को दाखिला दे दिया गया है। इसलिए विद्यार्थियों के हितों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने इन 1159 निजी स्कूलों को 31 मार्च, 2017 तक एक वर्ष के लिए अस्थाई मान्यता प्रदान करने का निर्णय लिया है। इसके अतिरिक्त, सरकार ने ऐसे निजी स्कूलों को भी निर्धारित मानदंड पूरा करने के लिए एक वर्ष की अस्थाई मान्यता प्रदान करने का निर्णय लिया है, जिन्होंने जिला स्तरीय कमेटी के मान्यता रद्द करने के आदेशों के विरूद्घ अपील दायर की है और जिनकी अपील सक्षम प्राधिकारी के पास लम्बित पड़ी है। उन्होंने कहा कि बहरहाल ऐसे स्कूलों को अपील दायर करने के संबंध में दस्तावेजी प्रमाण देना होगा। उन्होंने बताया कि पहली अप्रैल, 2017 से शुरू होने वाले आगामी शैक्षणिक सत्र 2017-18 से किसी भी अमान्यता प्राप्त स्कूल को संचालन की अनुमति नहीं दी जाएगी और ऐसा करने वालों के विरूद्घ नियमों के अनुसार उचित कार्यवाही की जाएगी।   

loading...
SHARE THIS

0 comments: