Wednesday, July 27, 2016

कोर्ट ने स्कूलों की फीस वृद्धि को गैर क़ानूनी बताया




फरीदाबाद-जुलाई 27,2016(abtaknews.com ) पिछले कई वर्षों से अभिभावकों तथा स्कूल प्रबंधन के गैर कानूनी फीस को लेकर अभिभावकों का संघर्ष जारी है। इसी कड़ी के बीच दिनांक 27ण्07ण्2016 को सिविल जज सुषमा की अदालत ने अभिभावकों के पक्ष में एक महत्वपूर्ण निर्णय सुनाते हुए स्कूल प्रबंधन को कड़ी फटकार लगाई और कहा कि छात्रों को स्कूल में अंदर जाकर पढ़ाई करने से न रोका जाए। मामला रेयान इंटरनेशनल स्कूल का है जिसमें शिक्षा विभाग द्वारा 134 ए के तहत उक्त विद्यालय में पढ़ने के लिए मास्टर आयुष एवं मास्टर तुषार पुत्र राजेन्द्र कुमार को आबंटित की गई सीटों के तहत दाखिला देने से इंकार कर दिया तथा इससे संबंधित शिकायत राजेन्द्र कुमार ने जिला शिक्षा अधिकारी को भी दी थी और उस शिकायत की बाबत जिला शिक्षा अधिकारी ने दिनांक 13ण्05ण्2016 को उक्त विद्यालय की प्रधानाचार्या को सख्त शब्दों में हिदायत दी थी कि इन दोनों बच्चों ने सभी औपचारिकताएँ पूरी की है और इनसे किसी प्रकार की फीस न  माँगते हुए इन्हें तीन दिनों के अंदर दाखिला दिया जाए। लेकिन स्कूल ने जिला शिक्षा अधिकारी के आदेश को न मानते हुए तथा सरकार द्वारा तय किए  गए  सभी कानूनों को दांव पर रखकर दाखिला देने से इनकार कर दिया और पिछले 20 दिनों से  दोनों बच्चों को स्कूल में अंदर घुसने से साफ इंकार कर दिया।
अभिभावक राजेन्द्र कुमार ने इसके बाद लायर्स फॉर एजुकेश्न  के संयोजक  एडवोकेट ओ० पी० शर्मा एवं जिला अध्यक्ष एडवोकेट पंकज पाराशर से संपर्क किया जो अभिभावकों को कानूनी सहायता प्रदान करते है। इसके पश्चात एडवोकेट ओ० पी०  शर्मा व एडवोकेट पंकज पाराशर अपनी लायर्स फॉर एजुकेशन की टीम के साथ अभिभावक की तरफ से कोर्ट में पेश हुए और अभिभावकों के पक्ष में यह निर्णय करवाया कि स्कूल प्रबंधन बच्चों को स्कूल में पढ़ाई व प्रवेश करने से नहीं रोकेगा। अदालत के इस निर्णय से अभिभावक में उत्साह बढ़ा तथा लायर्स फॉर एजुकेशन के साथ भविष्य में और भी अभिभावकों को जोड़ने का धन्यवाद सहित आग्रह किया।  इस मौके पर अभिभावकों सहित एडवोकेट आई० डी० शर्माए सुरेन्द्र कुमारए गौरव शर्मा दीपक अभिषेक इत्यादि अधिवक्ता मौजूद थे।



loading...
SHARE THIS

0 comments: