Friday, July 29, 2016

अनुभवहीन है राज्य की खट्टर सरकार;- किरण चौधरी




फरीदाबाद-जुलाई 29,2016(abtaknews.com) कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी ने राज्य की खट्टर सरकार पर बरसते हुए उसे अनुभवहीन बताया और कहा कि आज स्मार्ट सिटी की बात हो या फिर स्वच्छता अभियान की बात हो, सभी धज्जियां उड रही है। मिनिमम गर्वमेंट- मेक्सीमम गर्वनेंस की बात करने वाली भाजपा सरकार में उल्टा हो रहा है- आज मेकसिम गर्वमेंट- मिनियम गर्वनेंस पर काम हो रहा है। यहीं कारण कि नए मंत्रियों पर हाई कोर्ट ने संज्ञान लिया है। अरावली क्षेत्र में ग्रीन क्षेत्र का दायरा घटाने पर भी उन्होने चिंता व्यक्त की और कहा कि आने वाले दिनों में इसके दुश्परिणाम सामने आयेगें। कैप्टन अजय यादव द्वारा कांग्रेस छोडने की बात को वह यह कहकर टाल गई कि उन्हे अभी इसके बारे में पता नहीं है। किरण चौधरी आज यहां पत्रकारों से बातचीत कर रही थी।
फरीदाबाद को स्मार्ट सिटी का दर्जा दिया गया है, लेकिन यहां सड़कों पर इतने बड़े खड्डे है कि स्मार्ट सिटी तो क्या किसी देहात से कम शहर नहीं है। स्वछता अभियान की धज्जिया उड रही है, जबकि सरकार ने इस पर सेस लगा दिया है। गुडगंाव में जाम की स्थिति पर बोलते हुए किरण चौघरी ने कहा कि यह सरकार अनुभवहीनता को दर्शाता है। सरकार ने पहले मिनिमम गर्वमेंट और मैकेसिमम गर्वनेंस का नारा दिया था। लेकिन आज उसके उल्ट हो रहा है। आज सरकार में मंत्री अधिक है और गर्वनेंस नाम की कोई चीज नहीं है। कैप्टन अजय यादव के कांग्रेस छोडने की बात पर उन्होने कहा कि उन्हे इसके बारे में पता नहंी है, वे इस बारे में उनसे बात करेंगी। कांग्रेस सरकार ने अरावली क्षेत्र में किसी भी प्रकार के निमार्ण और दूसरे कार्यो पर एक हजार मीटर तक रोक लगा दी थी, लेकिन सरकार ने इसे घटाकर 500 मीटर कर दिया है। जो आने वाले दिनो में पर्यावरण के लिए भारी खतरा है। कांग्रेसी विधायकों में विकास कार्यो के मामलें में भेदभाव बरता जा रहा है। किरण चौधरी ने आरेोप लगाया कि उन्हे विधानसभा में प्रश्र पूछने तक अनुमति नहीं मिल पाती है। 

हरियाणा कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान की कलई खोलते हुए कहा है कि अगर स्वच्छता अभियान की असलियत कही देखनी है तो दिल्ली से घुसते ही फरीदाबाद में सरेआम देखी जा सकती है। उन्होंने फरीदाबाद में व्याप्त गंदगी के कई फोटो पत्रकारों को दिखाते हुए कहा कि यह फोटो मोदी जी को भेजे जाने चाहिए, जिससे कि उन्हें पता चल सके कि स्वच्छता अभियान के रूप में उनके द्वारा जनता पर लगाया गया कर का हरियाणा की सरकार किस मद में इस्तेमाल कर रही है। उन्होंने फरीदाबाद को नरकीय शहर की संज्ञा देते हुए हरियाणा के एक कैबिनेट मंत्री की ओर ईशारा करते हुए कहा कि मंत्री महोदय ने प्रदेश में व्हटअप नंबर जारी किया है, जिसके द्वारा कहा कि अगर प्रदेश में कही भी टूटी सडक़ व गंदगी का फोटो इस नंबर पर डाला जाएगा तो 75 घण्टे के अंदर त्वरित कार्य करते हुए समस्या का समाधान होगा, लेकिन अचरज की बात आज जब उन्होंने स्वयं एक फोटो खींचकर उस व्हटअप नंबर पर भेजना चाहा तो वह नंबर ढूंढे भी नहीं मिला। उन्होंने ऐलान किया है कि इस मुद्दे को आने वाले विधानसभा सत्र में प्रमुखता से उठाएंगी। श्रीमती चौधरी आज नीलम-बाटा रोड स्थित होटल डिलाईट में आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित कर रही थी। कार्यक्रम का आयोजन पूर्व विधायक आनंद कौशिक एवं प्रदेश महासचिव बलजीत कौशिक द्वारा किया गया। जबकि इस अवसर पर पूर्वमंत्री ए.सी. चौधरी, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता विकास चौधरी, प्रदेश महासचिव राजकुमार तेवतिया, पं. राजेंद्र शर्मा, राकेश भड़ाना, ज्ञानचंद आहुजा, ललित भड़ाना, दिनेश चंदीला एडवोकेट, महिला कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता सीमा जैन, एस.एल. शर्मा, डा. सौरभ शर्मा, गौरव वशिष्ठ, सचिन शर्मा, वेदराम शर्मा, एमएल कुकरेजा, गोपीचंद गुप्ता, प्रताप शर्मा मौजूद थे। हरियाणा कांग्रेस की सीएलपी लीडर किरण चौधरी ने सरकार पर वार करते हुए कहा कि एनसीआर क्षेत्र के लिए केंद्र सरकार से एक लाख करोड़ रूपए का प्रावधान है और प्रदेश व केंद्र सरकार बताए कि एनसीआर के किस क्षेत्र में यह पैसा लगाया गया क्योंकि फरीदाबाद सहित एनसीआर क्षेत्र के सभी इलाकों का उन्होंने दौरा किया है और उन्हें कहीं भी ऐसा नहीं लगा कि वहां इस पैसे का इस्तेमाल किया गया हो, क्योंकि एनसीआर क्षेत्र में आने वाले सभी इलाके आज अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहे है। चाहे सडक़ों की बात हो या सफाई व्यवस्था की, हर ओर लोग अपनी मूलभूत सुविधाओं के लिए त्राहि-त्राहि कर रहे है। उन्होंने भाजपा के अच्छे दिनों का मखौल उड़ाते हुए कहा कि आज लोगों में ‘कमल का फूल-हमारी भूल’ का नारा चारों ओर सुनने को मिल रहा है। श्रीमती चौधरी ने कहा कि महंगाई का जिक्र करते हुए कहा कि पहले आम गरीब लोग दाल-रोटी खाओ, प्रभु के गुण गाओ, का गीत गुनगुनाकर अपने आपको खुशनसीब मानते थे, लेकिन आज लोगों को दाल खाना भी नसीब नहीं हो रहा है क्योंकि दाल के भाव 200 रूपए प्रति किलो से ज्यादा पहुंच गए है, जो आम लोगों की पहुंच से ज्यादा है। उन्होंने कांग्रेस सरकार में अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें 150 रूपए प्रति बैरल रूपए की थी, लेकिन इतना ऊंचा भाव होने के बावजूद उन्होंने अपनी सरकार में डीजल पर कभी भी वैट का भाव नहीं लगाया, लेकिन अब उसके उल्ट डीजल-पेट्रोल के भाव वहीं के वहीं है, बल्कि इसके विपरीत अब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का भाव 30 रूपए प्रति बैरल मात्र है। उन्होंने सवाल किया कि जब कच्चे तेल के भाव मात्र 30 रूपए बैरल है तो इसका लाभ आम आदमी तक क्यों नहीं पहुंच रहा, इसका असर भी महंगाई पर पड़ता है।  वहीं उन्होंने भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाते हुए कहा कि आज चारों ओर भ्रष्टाचार का आलम है, भ्रष्टाचार घटने की बजाए और बढ़ रहा है। युवाओं का मुद्दा उठाते हुए सीएलपी श्रीमती चौधरी ने सवाल किया कि भाजपा ने चुनाव से पूर्व युवाओं से बेरोजगारी भत्ता की बात को प्रमुखता से उठाया था, लेकिन अब दो साल सरकार के बीतने के बावजूद हरियाणा में बेरोजगारों को एक रूपए भत्ते के रूप में नहींं दिया गया है और बेरोजगारी के चलते युवा दिशाहीन होता जा रहा है।


loading...
SHARE THIS

0 comments: