Sunday, July 31, 2016

कुरुक्षेत्र में 6 से 10 दिसम्बर तक अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती उत्सव;- खट्टर




चंडीगढ़, 31 जुलाई,2016(abtaknews.com ) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्वर्ण जयंती वर्ष पर शहीदों के परिजनों को सम्मानित करने, वीरों की प्रतिमाएं स्थापित करने, अम्बाला में बनने वाले शहीदी स्मारक में शहीद उधम सिंह की प्रतिमा स्थापित करने, प्रदेश के 28 प्रवेश द्वारों में से एक द्वार का नाम शहीद उधम सिंह रखने, शाहबाद बराडा रोड़ पर अधोया चौंक का नाम शहीद उधम सिंह चौंक रखने, पश्चिमी व उतरी हरियाणा में नगरपालिका से रिपोर्ट लेने के बाद हर शहर में एक-एक चौंक का नाम शहीद उधम सिंह रखने की घोषणा की है। 
मुख्यमंत्री श्री मनेाहर लाल कुरुक्षेत्र में हरियाणा कांबोज सभा एवं प्रदेश के खाद्य एवं आपूर्ति राज्यमंत्री कर्णदेव कांबोज द्वारा शहीद उधम सिंह के 76वें शहीदी दिवस पर आयोजित विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने कुरुक्षेत्र कांबोज धर्मशाला के लिए 21 लाख रुपए अनुदान राशि देने की घोषणा करने के साथ-साथ राज्यमंत्री कर्णदेव कांबोज और राज्य मंत्री कृष्ण बेदी की तरफ से भी मुख्यमंत्री ने 10-10 लाख रुपए देने की घोषणा की हैं। 
उन्होंने कहा कि हरियाणा के कण-कण में वीरों की गाथा की महक और उज्ज्वल इतिहास समाया हुआ हैं। इन वीर सपूतों और इतिहास को बरकरार रखने के लिए प्रदेश के सभी लोगों को अपने स्वार्थाे को त्याग कर छोटे दायरे से निकलकर बड़े दायरे में प्रवेश करना होगा। इतना ही नहीं जात-पात, क्षेत्रवाद से उपर उठ कर हरियाणा एक-हरियाणवी एक के साथ जुडऩा होगा, तभी शहीद उधम सिंह जैसे महान वीरों के सपनों को हरियाणा बना सकेंगे। 
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शहीद उधम सिंह के शहीदी दिवस पर राज्यस्तरीय कार्यक्रम के सफल आयोजन पर राज्यमंत्री कर्णदेव कांबोज व हरियाणा कांबोज सभा के सभी सदस्यों को बधाई देते हुए कहा कि शहीद उधम सिंह जैसे महान वीरों के बलिदान दिवस जैसे कार्यक्रमों से नई पीढ़ी को प्रेरणा मिलेगी। इस आजादी के लिए लाखों वीरों ने अपना खून बहाया है और यह आजादी सस्ते में नहीं मिली हैं। देश की इस सौगात को संभालकर रखना सबका कर्तव्य है। अगर इसमें कोताही बरती तो पडोसी देशों क निगाहे भारत पर ही टीकी हुई हैं। जवानों के माध्यम से देश की सीमाओं की रक्षा की जा रही हैं, लेकिन देश को आगे बढाने के लिए देश के आमजन को अपनी मानसिकता बदलनी होगी और देश के लिए जीना सीखना होगा, इसके लिए सभी को निजी स्वर्थो का त्याग करना होगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा को बने हुए 50 वर्ष पूरे होने जा रहे हैं। इस सुंदर अवसर पर एक नवम्बर 2016 से 31 अकटूबर 2017 तक विकास, संस्कार और प्रदेश की जनता को जिम्मेवार बनाना और जीवन की भावना बदलने को लेकर बड़े-बड़े कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। 
उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा पानीपत से शुरु किए बेटी बचाओ-बेटी पढाओ के सार्थक परिणाम सामने आ रहे हैं। इससे प्रदेश का लिंगानुपात 837 से 910 का आंकड़ा पार कर चुका हैं। देश का 1.5 प्रतिशत क्ष्ेात्रफल वाले हरियाणा प्रदेश की आबादी भी 2.5 प्रतिशत हैं, लेकिन सेना में हरियाणा का योगदान 10 प्रतिशत हैं। इन वीर जवानों का मान-सम्मान राज्य सरकार द्वारा बखुबी किया जा रहा हैं। स्वर्ण जयंती पर महान वीरों व उनके परिजनों को सम्मानित किया जाएगा। इतना ही नहीं प्रतिमाएं भी स्थापित की जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों के हित के लिए कई योजनाएं शुरु की हैं। सरकार ने 2 फसलों के मुआवजे के रुप में और पिछला बकाया 300 करोड़ का मुआवजा मिलाकर 2400 करोड़ रुपए किसानों को दिया हैं। लेकिन 1966 से लेकर 2014 तक 48 वर्षों में 1200 करोड़ रुपए का मुआवजा ही किसानों को दिया गया। अब प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों को थोड़ा सा प्रीमियम देने पर 20 से 25 हजार रुपए तक का मुआवजा प्रति एकड़ मिल पाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कुरुक्षेत्र में 6 से 10 दिसम्बर तक अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती उत्सव मनाया जाएगा। इस उत्सव में लाखों की संख्या में लोग आएंगे और गीता का ज्ञान अर्जित करके जाएंगे। उन्होंने कहा कि हैप्पनिंग हरियाणा के तहत 6 लाख करोड़ रुपए के निवेश के प्रस्ताव आए हैं, इससे 4 लाख लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। इस रोजगार के लिए युवाओं को कौशल विकास के तहत आईटीआई संस्थाओं में छोटे कोर्सो से तकनीकी रुप से कौशल बनाया जाएगा। 
हिमाचल के राज्यपाल आचार्य डा. देवव्रत ने इस कार्यक्रम के लिए राज्यमंत्री कर्णदेव कांबोज व उनकी पूरी टीम को बधाई देते हुए कहा कि भारत का इतिहास वीरों का इतिहास हैं। देश की माताओं नेे वीर सपूतों को जन्म दिया और उन सपूतों ने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों को न्यौछावर कर दिया। इन्हीं में से एक वीर पंजाब के छोटे से कस्बे सुनाम में जन्म लेने वाले उधम सिंह ने अमृतसर के जलियांवाला बाग में गोलियों से मारे गए हजारों निर्दोष लोगों के खून का बदला लेने का संकल्प किया और बड़े होकर लंदन में जरनल डायर को 3 गोलियों से भूनकर बदला लेने का काम किया। शहीद उधम सिंह ने देश की आजादी के लिए अपना सबकुछ न्यौछावर कर दिया। उन्होंने शहीद उधम सिंह के जीवन पर विस्तृत प्रकाश डाला और बाल्यकाल से लेकर शहीद होने तक के तमाम पहलुओं को विस्तार से सबके सामने रखते हुए कहा कि जो कौमे अपने इतिहास को भूल जाती है, उनकी संस्कृति भी नष्ट्र हो जाती हंैं। उन्होंने कहा कि आज सभी को आगे बढऩे की जरुरत हैं। हरियाणा बदल रहा है और अब आमजन को बदलकर सबसीढी की राह छोडक़र बिजली जैसी सुविधा के लिए भुगतान करना चाहिए। 
उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन, पर्यावरण और युवाओं को नशे की लत से दूर रहने का आहवान करते हुए कहा कि आज युवा पीढी को संस्कारवान बनाने की जरुरत हैं। स्वामी ब्रहमदास जी महाराज सिरसा ने कहा कि युवा पीढ़ी को महनत और लग्र के साथ काम करने की जरुरत हैं। सभी को देश की आन-बान-शान हेतू कुर्बानी देने के लिए तैयार रहना चाहिए। 
राज्यमंत्री कर्णदेव कांबोज ने मेहमानों का स्वागत करते हुए शहीद उधम सिंह के बहादुरी के किस्सों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि शिरोमणी शहीद उधम सिंह जैसे वीर सपूतों के कारण हमें आजादी मिली हैं। इस आजादी को बरकरार रखने के लिए देश की माटी के लिए जीना होगा। इस प्रकार के अवसरों पर अच्छे काम करने का संकल्प लेना होगा। सभी को शहीदों के बलिदान और जन्म दिवस तथा बेटी और बेटे के पैदा होन पर एक-एक पौधा लगाना होगा ताकि प्रदेश का वातावरण स्वच्छ हो सके। 
हरियाणा कांबोज सभा के प्रदेशाध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह ने मांग पत्र पढ़ा और इस मांगपत्र को मुख्यमंत्री को सौंपा। इस जनसभा को राज्यमंत्री कृष्ण कुमार बेदी, राज्यमंत्री नायब सिंह सैनी, सांसद राजकुमार सैनी, मुख्य संसदीय सचिव श्याम सिंह राणा, थानेसर विधायक सुभाष सुधा, लाडवा विधायक डा. पवन सैनी, विधायक भगवान दास कबीर पंथी, पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के चेयरमैन रामचंद्र जांगड़ा, अनुसूचित जाति निगम की चेयरमैन सुनीता दुग्गल, भाजपा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष आत्मप्रकाश मनचंदा, पूर्वमंत्री शशीपाल मेहता, भाजपा के जिलाध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर, भाजपा के जिला प्रभारी रामेश्वर चौहान, पूर्व जिलाध्यक्ष धुम्मन सिंह किरमच, रविन्द्र सांगवान आदि नेताओं ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इस जनसभा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, हिमाचल के राज्यपाल आचार्य डा. देवव्रत को राज्यमंत्री कर्णदेव कांबोज, प्रदेशाध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह, जिलाध्यक्ष बख्शीश सिंह ने स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया। इतना ही नहीं सभी मेहमानों का हरियाणा कम्बोज सभा की तरफ पगड़ी पहनाकर सम्मानित किया गया। 
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कुरुक्षेत्र अनाज मंडी के प्रांगण में गांव उमरी में लोक निर्माण विभाग द्वारा 17 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित पोलटैक्रिकल कालेज, पंचायती राज विभाग द्वारा 1 करोड़ रुपए की लागत से बनाए गए खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी कार्यालय इस्माईलाबाद व लोक निर्माण विभाग द्वारा 5 करोड़ 5 लाख रुपए की लागत से बनाए गए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र झांसा का उदघाटन किया। 
इससे पहले मुख्यमंत्री मनेाहर लाल, हिमाचल के राज्यपाल आचार्य डा. देवव्रत, राज्यमंत्री कर्णदेव कांबोज, राज्यमंत्री कृष्ण कुमार बेदी, राज्यमंत्री नायब सिंह सैनी, सांसद राजकुमार सैनी, मुख्य संसदीय सचिव श्याम सिंह राणा, थानेसर विधायक सुभाष सुधा, लाडवा विधायक डा. पवन सैैनी, नीलोखेड़ी विधायक भगवान दास कबीर पंथी ने शहीद उधम सिंह चौंक की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर श्रृद्धांजलि दी और जनसभा में शहीद उधम सिंह की फोटो पर पुष्प अर्पित किए। 
इस मौके पर जिला परिषद के चेयरमैन गुरदयाल सुनहेड़ी, बाबुराम, ज्ञान सिंह, ईश्वर सिंह कांबोज, रोहताश कांबोज, सुनील खेड़ा, धर्मवीर डागर, सुशील राणा, साहिल सुधा, ब्लाक समिति चेयरमैन देवी दयाल, रीता गोयल, डा. शकुंतला शर्मा, परमजीत, रामकुमार रम्भा, विनित क्वात्रा, विनित बजाज, रमेश सुधा, मुकुंद सुधा, युद्धिष्ठर बहल, रामधारी शर्मा सहित अन्य भाजपा नेता, कार्यकर्ता व गणमान्य लोग मौजूद थे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: