Previous
Next

Monday, February 20, 2017

फरीदाबाद में राज्य स्तरीय श्लोकोच्चारण एवं संस्कृत भाषण प्रतियोगिताएॅं

फरीदाबाद में राज्य स्तरीय श्लोकोच्चारण एवं संस्कृत भाषण प्रतियोगिताएॅं


फरीदाबाद 20 फरवरी,2017(abtaknews.com ) डी.ए.वी. शताब्दी महाविद्यालय, फरीदाबाद में प्राचार्य डा.सतीश आहूजा के संरक्षण में तथा संस्कृत-विभागाध्यक्षा डा.दिव्या त्रिपाठी के नेतृत्व में संस्कृत-परिषद् ने 20.2.2017 में श्लोकोच्चारण एवं संस्कृत भाषण प्रतियोगिताओं का आयोजन हुआ जिसके मुख्य अतिथि संस्कृत के विद्वान, 78 पुस्तकों के रचयिता आचार्य बलदेव राज शान्त थे। राज्य-स्तरीय इन प्रतियोगिताओं में हरियाणा के महाविद्यालयों से 14 विद्यार्थियों ने भाग लिया। डॉ.उर्मिला अग्रवाल, डा. मिथिलेश तथा डा. रेनू निर्णायक-पद पर थे। श्लोकोच्चारण में डी.ए.वी. शताब्दी कॉलेज की यंशिका ने प्रथम स्थान प्राप्त किया तथा आशू त्यागी, द्वितीय (के.एल. मेहता डी.एन. कालेज वूमन) तथा गर्वमेन्ट कालेज, फरीदाबाद तृतीय रहे। भाषण प्रतियोगिता में डी.ए.वी. शताब्दी कॉलेज राहुल कुमार ने प्रथम स्थान प्राप्त किया और शालू द्वितीय(के.एल. मेहता डी.एन. कालेज वूमन) तथा पवन (एस.डी. कालेज, पलवल) और छवि, (सरस्वती कालेज, पलवल) तृतीय रहे।
गांव साहूपुरा में बंसत मेले का हुआ रंगारंग समापन, ग्रमीणों ने उठाया लाभ

गांव साहूपुरा में बंसत मेले का हुआ रंगारंग समापन, ग्रमीणों ने उठाया लाभ

basant-mela-sahupura-village

फरीदाबाद, 20 फरवरी,2017(abtaknews.com ) बल्लबगढ़ उपमण्डल के गांव साहूपुरा में आज बंसत मेले का आयोजन किया गया जिसमें उपायुक्त समीरपाल सरों ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। उपायुक्त का गांव की पंचायत ने पगड़ी बांधकर स्वागत किया। दीप प्रज्जवलन के साथ कार्यक्रम की विधिवत रूप से शुरूआत हुई। इस अवसर पर बल्लबगढ़ के एसडीएम पार्थ गुप्ता, महाप्रबन्धक हरियाणा रोड़वेज रीगन कुमार,  जिला परिषद के चेयरमैन विनोद चैधरी, जिला पार्षद अवतार सारंग, गांव की सरपंच मोनिका, मिर्जापुर के सरपंच व पंचायत ताऊ महिपाल आर्य प्रमुख रूप से उपस्थित थे। मेले के दौरान उपायुक्त ने कहा कि सरकार द्वारा सभी उपमण्डलों में बसंत मेले का आयोजन किया जा रहा है उसी कड़ी में आज इस मेले का आयोजन किया गया है। ग्रामीणाों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आज की भागदौड़ भरी जिन्दगी में मिलने जुलने के लिए इस प्रकार के आयोजन सरकार की अच्छी पहल है जिसका हम सबको मिलकर फायदा उठाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस मेले का उद्देश्य वर्तमान समय की आवश्यकताओं जैसे कैशलैस व लैसकैश प्रणाली को अधिक से अधिक बढ़ावा देना है। उपायुक्त ने स्वयं भी पीओएस मशीन द्वारा ट्रांजैक्शन किया व मिलन होटल द्वारा लगाए गए स्टाल पर भी पीओएस मशीन द्वारा अदायगी कर खाने का लुत्फ उठाया। 
 
basant-mela-sahupura-village
उपायुक्त ने सभी ग्रामीणों व आसपास के गांवों से आये लोगों का आह्वान किया कि कैशलेस व लेसकैश सिस्टम को अपने जीवन में जितनी जल्दी अपनाओगे उतना ही अच्छा होगा। उन्होंने कहा कि कैशलैस रहित सिस्टम में बगैर कैश के ही हम सारे कार्य आराम से कर सकते हैं। ई-वॉलेट्स पीओएस, इन्टरनैट बैंकिंग सिस्टम अपनाने से रोजमर्रा के कार्यों में काफी आसानी होती है। इसलिए अधिक से अधिक व्यक्तियों को कैशलेस सिस्टम को जल्दी से जल्दी अपना लेना चाहिए। इसको अपनाने से कई प्रकार की छूट भी मिलती है। मेले में ग्रामीणों की ओर से पार्षद अवतार सारंग ने उपायुक्त को मांग पत्र सौंपा। जिस पर उपायुक्त ने सहानुभूतिपूर्वक विचार कर समस्याओं के निदान की बात कही।उपायुक्त ने लिंगानुपात पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि आपके गांव में लिंगानुपात कम है जिसे आपके प्रयासों से ही बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि गर्भपात करवाने वालों की सूचना देने वालों को ईनाम दिया जायेगा तथा प्रशासन द्वारा सम्मानित भी किया जायेगा। दोषियों की खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही की जायेगी। 
 
मेले में सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने मौजूदा ग्रामीणों का मनमोह लिया। नगाड़े और बीन पर ग्रामीण झूमने पर मजबूर हो गए। और उन्होंने जमकर नगाड़े पर डांस किया। सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग की राजाराम की भजन मण्डली ने ‘‘अब सब कैशलेस अपनाओ जी, मोबाइल बना दिए बटुआ’’ की प्रस्तुति ने दर्शकों की काफी तालियां बटोरी। साहूपुरा स्कूल की छात्राओं ने भी सांस्कृतिक कार्यक्रम में नृत्य कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया। अग्रवाल गल्र्ज सीनियर सैकेण्डरी स्कूल द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ की एक लघु नाटिका ने सबका मन मोह लिया। इस लघु नाटिका की उपायुक्त ने सराहना की और कहा कि इस नाटिका को एक फिल्म के रूप में बनाया जायेगा। जिस पर होने वाले खर्च का वहन जिला प्रशासन द्वारा किया जायेगा। इस दौरान जिला रैडक्रास की ओर से एक रक्तदान शिविर का भी आयोजन किया गया तथा उपायुक्त द्वारा पौधारोपण भी किया गया।
उपायुक्त ने कहा कि इस मेले के अन्तर्गत सभी विभागों के कार्य गांव में ही सम्पन्न हो रहे हैं, जैसे पैंशन, आधार कार्ड, स्वास्थ्य सेवाएं, इंतकाल, बिजली पानी से सम्बन्धित समस्याएं व अन्य विभागों से सम्बन्धित सभी जानकारी भी उपलब्ध करवाई जा रही हैं। इस मेले की खासियत यह रही है कि यहां कैशलेस प्रणाली से लेनदेन हो रहा था जिससे ग्रामीणों में उत्सुकता देखी गई।एसडीएम पार्थ गुप्ता ने कहा कि बसंत का समय सभी कार्यों को करने के लिए शुभ माना जाता है। इसलिए कैशलेस व लैसकैश के लिए यह उपयुक्त समय है। इस अवसर पर सिविल सर्जन डा. गुलशन अरोड़ा, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी नरेन्द्र चैहान, जिला राजस्व अधिकारी, राजेन्द्र फागना, डीसीपी बल्लबगढ़ विष्णु दयाल खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी उपमा अरोड़ा, खण्ड शिक्षा अधिकारी अनीता शर्मा, रैडक्रास सोसायटी के सचिव बी.बी. कथूरिया, एसडीएम इन्द्रमोहन शर्मा के अलावा अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी व गणमान्य व्यक्ति प्रमुख रूप से उपस्थित थे।