Previous
Next

Friday, July 28, 2017

एबीवीपी छात्र संगठन ने फरीदाबाद के कालेजों में 20 प्रतिशत सीटें बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन

एबीवीपी छात्र संगठन ने फरीदाबाद के कालेजों में 20 प्रतिशत सीटें बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन

abvp-agitation-faridabad-today
फरीदाबाद (abtaknews.com) 28 जुलाई,2017;पिछले साल की तरह इस बार भी फरीदाबाद के सरकारी नेहरू काज में प्रवेश लेने के लिये बेटियों को चक्कर काटने पड रहे हैं, जिन्हें कालेज से सीटें फुल होने का जबाब मिल रहा है, जिससे गुस्साये विद्यार्थियें ने भाजपा की ईकाई कहे जाने वाले एबीवीपी छात्र संगठन का साहरा लिया और दर्जनों विद्यार्थियों ने एबीवीपी के साथ मिलकर सरकारी कालेजों में 20 प्रतिशत सीटें बढ़ाने की मांग को लेकर केबीनेट मंत्री विपुल गोयल के कार्याल्य पर जोरदार प्रदर्शन किया, और एमडीयू मुर्दाबाद के नारे लगाये। प्रवेश न मिलने से गुस्साये विद्यार्थियोंं ने कालेज पर भ्रष्ट्राचार का आरोप लगाते हुए कहा है कि कालेज प्रशासन अपनी जान पहचान और पैसों से प्रवेश कर रहा है। छात्रों ने अल्टीमेटम दिया कि यदि जल्द 20 प्रतिशत सीटे न बढ़ाई गई तो वे उग्ररूप से प्रदर्शन करेंगे। वहीं मंत्री की अनुपस्थिति में ज्ञापन लेने के बाद उनके पीए ने आश्वासन दिया कि जल्द छात्रों की समस्या का समाधान हो जायेगा। 

केबिनेट मंत्री विपुल गोयल के कार्यालय पर नारेबाजी कर रहे ये छात्र और छात्रायें महर्षि दयानंद विश्वविधालय से जुडे कालेजों में 20 प्रतिशत सीटे बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे है, फरीदाबाद में सैंकडों बेटियों को कालेजों में प्रवेश लेने के लिये चक्कर काटने पड रहे हैं। तो वहीं युवाओं को भी प्रवेश नहीं मिल पा रहा है।प्रदर्शनकारी छात्राओं का कहना है कि उन्हें नेहरू कालेज में प्रवेश नहीं मिल रहा है कालेज प्रबंधन ने सीट फुल होने का नोटिस लगा दिया है। लेकिन अभी कालेज प्रशासन अपने जानने वाले और पैसों से प्रवेश कर रहे हैं जबकि नियम सबके लिये बराबर हैं। इसलिये उनकी मांग है कि एमडीयू यूनीवर्सिटी की ओर से 20 प्रतिशत सीटें बढा देनी चाहिये ताकि उन्हें कालेज में पढने का मौका मिल सके। उनके साथ करीब 500 छात्रायें भी सडकों पर कालेज में  प्रवेश न होने के चलते भटक रही हैं। 

एबीवीपी के छात्र नेता राहुल डागर की माने तो उनकी मांग है कि कालेजों 20 प्रतिशत सीटें बढानी चाहिये ताकि सभी के प्रवेश हो सकें , इसके लिये आज उन्होनें केबिनेट मंत्री विपुल गोयल के दफ्तर में ज्ञापन सोंपा है अगर जल्द से जल्द उनकी मांग पूरी नहीं की गई तो विद्यार्थियों को मजबूर उग्र प्रदशन करना पडेगा। उद्योगमंत्री विपुल गोयल की अनुपस्थिति में उनके पीए प्रशांत शर्मा ने ज्ञापन लेने के बाद बताया कि वो मंत्री साहब को ज्ञापन देंकर पूरी जानकारी देंगे और और पिछले साल की तरह इस बार भी एक सफ्ताह में सीटें बढवा देंगे। 

हरियाणा स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में चार दिवसीय हरियाणा पुस्तक मेले का आयोजन

हरियाणा स्वर्ण जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में चार दिवसीय हरियाणा पुस्तक मेले का आयोजन

Book-fare-haryana-granth-academy-panchkula-at-dav-public-school-sector-14-faridabad

फरीदाबाद 27 जुलाई,2017(abtaknews.com)फरीदाबाद में हरियाणा स्वर्ण जयंती बर्ष के उपलक्ष्य में चार दिवसीय हरियाणा पुस्तक मेले का आयोजन किया गया है जिसमें हरियाणा के इतिहास को बताने वाली अहम पुस्तकों को रखा गया है तो वहीं अन्य प्रदेशों से कई जिलों के पुस्तक विके्रताओं ने इस मेले में भाग लिया है और देश दुनिया से जुडी जानकारियों को पुस्तकों में समेट कर लेकर आये हैं। आज पुस्तक मेेले का विधिवत रूप से शुभारंभ किया, जिसके बाद पुस्तकों प्रेमी भी पुस्तक खरीदते हुए नजर आये, जिन्होंने कहा कि सरकार का हरियाणा की संस्कृति को बताने का बहुत अच्छा कदम है।
video

हरियाण के 50 वर्ष पूरे होने की खुशी में इस साल को स्वर्ण जयंती बर्ष के रूप में मनाया जा रहा है जिसमें कभी सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है तो कभी हरियाणा से जुडे अन्य कार्यक्रम के माध्यम से हरियाणा के बारे में विस्तृत जानकारी दी जा रही है। इसी कडी में फरीदाबाद में चार दिवसीय हरियाणा पुस्तक मेले का आयोजन किया है जिसकी शुरूआत आज से की गई है। इस मेले में हरियाणा से संबंधित पुस्तकों को प्राथमिकता दी गई है। मेेले में हरियाणा के कई जिलों से पुस्तक विक्रेता हरियाणा की तमाम जानकारी पुस्तकों में समेट कर लाये हैं तो वहीं इस मेले अन्य प्रदेशों के जिलों से भी पुस्तक विक्रेता अपनी अपनी पुस्तकों को लेकर पहुंचे हैं।
इस पुस्तक मेले के बारे में अधिक जानकारी देते हुए हरियाणा ग्रंथ अकादमी के निदेशक विजय दत्त शर्मा ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि मेेले में हरियाणा की संस्कृति इतिहास और लोक कला की जानकारी से संबंधित पुस्तकों में ज्ञान भरा हुआ है जिसका उद्देश्य जन जन तक हरियाणा के इतिहास के बारे में जानकारी पहुंचना है। उन्होंने बताया कि अब तक वो इससे पहले दो पुस्तक मेले लगा चुके हैं ये तीसरा पुस्तक मेला है।
वहीं मेले में पहुंचे डॉ वेद प्रकाश व्यथित चंद्र प्रकाश फुलेरिया पुस्तक प्रेमियों ने मीडिया को बताया कि हरियाणा सरकार का ये बहुत ही सार्थक कदम है जिससे सभी को हरियाणा के बारे में जानने का मौका मिलेगा, उन्होंने भी इस मेेले से कई पुस्तक खरीदी हैं जिन्हें वो घर पर पढेंगे, वहीं उन्होंने बताया कि ई पुस्तक के जमाने में पुस्तकों का क्रेज थोडा कम जरूर हुआ है मगर अभी लोगों में सामने पुस्तक देखने की एक ललक जरूर होती है।